Friday, September 30, 2011

अगर आपको रोड पर दिखाई दे सांप तो समझ लें कि...



सांप एक ऐसा जीव है जिसे अपने सामने देखते ही लोगों के पसीने छूट जाते हैं। सांप का भय इतना अधिक रहता है कि काफी लोग सांप के नाम से ही घबराते हैं। शास्त्रों के अनुसार सांप को पूजनीय भी बताया गया है। महादेव नाग को आभूषण की तरह अपने गले में धारण करते हैं। सांपों से जुड़े कई शकुन और अपशकुन हमारे समाज में प्रचलित हैं।

यदि आप कहीं जा रहे हैं और रास्ते में आपको सांप दिखाई दे तो इसके कई प्रकार के संकेत बताए गए हैं। ऐसे समय में सांप का दिखाई देना सामान्यत: अपशकुन की श्रेणी में ही आता है। शास्त्रों के अनुसार शकुन और अपशकुन के संबंध में कई प्रकार की अवधारणाएं प्रचलित हैं। किसी भी कार्य की शुरूआत से पहले कई प्रकार की छोटी-छोटी घटनाएं होती हैं। इनमें से कुछ असामान्य सी भी प्रतीत होती हैं। ऐसी ही घटनाओं को शकुन और अपशकुन से जोड़कर देखा जाता है।

शकुन और अपशकुन की छोटी-छोटी घटनाओं में कई प्रकार के संकेत छिपे होते हैं जिन्हें समझने पर भविष्य में होने वाली संभावित घटनाओं की जानकारी प्राप्त की जा सकती है। आजकल काफी लोग इन मान्यताओं को अंधविश्वास का नाम देते हैं जबकि पुराने समय इनका काफी अधिक महत्व माना जाता था।

जब भी आप किसी शुभ कार्य के लिए जा रहे हैं और रास्ते में कोई सांप दिख जाए तो इस अशुभ संकेत माना जाता है। इसका अर्थ यही है कि आप जिस कार्य के लिए जा रहे हैं उसमें आपको किसी प्रकार की कोई समस्या का सामना करना पड़ सकता है। अत: जब भी ऐसा हो तो कुछ देर रुककर अपने इष्टदेव का स्मरण करके ही कार्य के लिए निकलने चाहिए। यदि संभव हो तो उस समय वह कार्य टाल दिया जाना चाहिए। जरूरी होने पर भगवान को याद करके कार्य करें।

any body who will try to steal or miss use or blog will be dealt severly acording to law

Jyotishachary Varinder Kumar JI 
Shop No 74 New
Shopping Center Ghumar Mandi
Ludhiana Punjab India

01614656864
09915081311,09872493627

email: sun_astro37@yahoo.com,sun.astro37@gmail.com
wwwsunastrocom.blogspot.com
http://www.sunastro.com/
http://www.facebook.com/profile.php?id=100000371678

ये तीन सस्ती चीजें जरुर दूर करती हैं शनि के बुरे प्रभाव...



शनिवार, ये दिन है शनि देव का... इस दिन शनि को मनाने के लिए विशेष पूजन कर्म करने का महत्व है। ज्योतिष के अनुसार कुंडली में शनि की स्थिति काफी अधिक खास होती है। शनि की शुभ या अशुभ स्थिति के चलते व्यक्ति का जीवन सुखी या दुखों से पीडि़त हो सकता है। शनि का सर्वाधिक प्रभाव साढ़ेसाती और ढैय्या में ही झेलना पड़ता है। हर व्यक्ति को शनि की साढ़ेसाती अवश्य झेलना पड़ती है, इससे कोई बच नहीं सकता।

यदि शनि के कारण किसी व्यक्ति को अत्यधिक दुखों और असफलताओं का सामना करना पड़ रहा है तो शनिवार के दिन कुछ विशेष पूजन कार्य किए जाने चाहिए। शनि को मनाने के लिए यह सटीक उपाय बताया गया है, इसे प्रति शनिवार अपनाने से बहुत जल्द शुभ फल प्राप्त होने लगते हैं।

शनि के अशुभ प्रभावों को कम करने के लिए शनिवार के दिन एक काले कपड़े में काले उड़द, काले तिल और लोहे की वस्तु बांध लें। शनिदेव को अर्पित करें और पूजा करें। इसके बाद किसी ब्राह्मण, किसी जरूरतमंद व्यक्ति को काले कपड़े में बंधी तीनों चीजें दान कर दें। ऐसा हर शनिवार को किया जाना चाहिए। कुछ ही दिनों में इसके सकारात्मक परिणाम प्राप्त होने लगेंगे। 



any body who will try to steal or miss use or blog will be dealt severly acording to law

Jyotishachary Varinder Kumar JI 
Shop No 74 New
Shopping Center Ghumar Mandi
Ludhiana Punjab India

01614656864
09915081311,09872493627

email: sun_astro37@yahoo.com,sun.astro37@gmail.com
wwwsunastrocom.blogspot.com
http://www.sunastro.com/
http://www.facebook.com/profile.php?id=100000371678

तलाक या लड़ाई-झगड़े से बचना हो तो घर में क्या और क्यों करें?



शास्त्रों के अनुसार मनुष्य के जीवन के 16 महत्वपूर्ण संस्कार बताए गए हैं, इनमें से सर्वाधिक महत्वपूर्ण संस्कार में से एक है विवाह संस्कार। सामान्यत: बहुत कम लोगों को छोड़कर सभी लोगों का विवाह अवश्य ही होता है। शादी के बाद सामान्य वाद-विवाद तो आम बात है लेकिन कई बार छोटे झगड़े भी तलाक तक पहुंच जाते हैं। इस प्रकार की परिस्थितियों को दूर रखने के लिए ज्योतिषियों और घर के बुजूर्गों द्वारा एक उपाय बताया जाता है।

अक्सर परिवार से जुड़ी समस्याओं को दूर करने के लिए मां पार्वती की आराधना की बात कही जाती है। शास्त्रों के अनुसार परिवार से जुड़ी किसी भी प्रकार की समस्या के लिए मां पार्वती भक्ति सर्वश्रेष्ठ मार्ग है। मां पार्वती की प्रसन्नता के साथ ही शिवजी, गणेशजी आदि सभी देवी-देवताओं की कृपा प्राप्त हो जाती है। अत: सभी प्रकार के ग्रह दोष भी समाप्त हो जाते हैं।

ज्योतिष के अनुसार कुंडली में कुछ विशेष ग्रह दोषों के प्रभाव से वैवाहिक जीवन पर बुरा असर पड़ता है। ऐसे में उन ग्रहों के उचित ज्योतिषीय उपचार के साथ ही मां पार्वती को प्रतिदिन सिंदूर अर्पित करना चाहिए। सिंदूर को सुहाग का प्रतीक माना जाता है। जो भी व्यक्ति नियमित रूप से देवी मां की पूजा करता है उसके जीवन में कभी भी पारिवारिक क्लेश, झगड़े, मानसिक तनाव की स्थिति निर्मित नहीं होती है।

any body who will try to steal or miss use or blog will be dealt severly acording to law

Jyotishachary Varinder Kumar JI 
Shop No 74 New
Shopping Center Ghumar Mandi
Ludhiana Punjab India

01614656864
09915081311,09872493627

email: sun_astro37@yahoo.com,sun.astro37@gmail.com
wwwsunastrocom.blogspot.com
http://www.sunastro.com/
http://www.facebook.com/profile.php?id=100000371678

01 अक्टूबर : आज का पंचांग, ग्रह स्थिति और यात्रा की शुभ दिशा



जानिए: आज का पंचाग, किस दिशा में यात्रा करें? चोरी गई वस्तु कहां मिलेगी? आज कौन सा ग्रह, किस राशि में है?

01 अक्टूबर 2011: शनिवार, सूर्य दक्षिणायन, आश्विन मास शुक्लपक्ष, शोभन नाम संवत्सर, संवत् 2068, शरद ऋतु।

तिथि - चतुर्थी

विशेष - शारदीय नवरात्रि

नक्षत्र - विशाखा सुबह 11.16 से अनुराधा

सूर्योदय - 05:49

सूर्यास्त - 07:13

अक्षांश - 23:11 उत्तर

देशांश - 75:43 पूर्व

ग्रह स्थिति - चंद्र वृश्चिक राशि में, सूर्य कन्या में, मंगल कर्क में, बुध कन्या में, गुरू मेष में, शुक्र कन्या में, शनि कन्या राशि में, राहु वृश्चिक में और केतु वृष राशि में स्थित है।

किस दिशा में यात्रा - पूर्व दिशा, यदि आवश्यक हो तो तिल का सेवन कर के यात्रा करें।



any body who will try to steal or miss use or blog will be dealt severly acording to law

Jyotishachary Varinder Kumar JI 
Shop No 74 New
Shopping Center Ghumar Mandi
Ludhiana Punjab India

01614656864
09915081311,09872493627

email: sun_astro37@yahoo.com,sun.astro37@gmail.com
wwwsunastrocom.blogspot.com
http://www.sunastro.com/
http://www.facebook.com/profile.php?id=100000371678

Thursday, September 29, 2011

Richa Sharma 'Jhanjhar channke'

नवरात्रि: इस उपाय से मिलेगा परफेक्ट दूल्हा



शारदीय नवरात्रि का आरंभ हो चुका है, जो 5 अक्टूबर बुधवार तक रहेगी। इस दौरान विशेष साधना तथा पूजन से आप अपनी सभी मनोकामना पूरी कर सकते हैं। यदि आपकी पुत्री के विवाह में अड़चनें आ रही हैं तो नीचा लिखा उपाय करने पर आपकी यह समस्या शीघ्र ही दूर हो जाएगी और उसके लिए परफेक्ट दूल्हा मिलेगा।

उपाय

नवरात्रि में पडऩे वाले सोमवार(इस बार 3 अक्टूबर) को अपने आस-पास स्थित किसी शिव मंदिर में जाएं। वहां भगवान शिव एवं मां पार्वती पर जल एवं दूध चढ़ाएं और पंचोपचार (चंदन, पुष्प, धूप, दीप एवं नैवेद्य) से उनका पूजन करें। अब मौली से उन दोनों के मध्य गठबंधन करें। अब वहां बैठकर लाल चंदन की माला से निम्नलिखित मंत्र का जाप 108 बार करें-

हे गौरी शंकरार्धांगी। यथा त्वं शंकर प्रिया। 

तथा मां कुरु कल्याणी, कान्त कान्तां सुदुर्लभाम्।। 

इसके बाद तीन माह तक नित्य इसी मंत्र का जप शिव मंदिर में अथवा अपने घर के पूजाकक्ष में मां पार्वती के सामने 108 बार करें। घर पर भी आपको पंचोपचार पूजा करनी है। शीघ्र ही पार्वतीजी की कृपा से आपको सुयोग्य वर की प्राप्ति होगी।
any body who will try to steal or miss use or blog will be dealt severly acording to law

Jyotishachary Varinder Kumar JI 
Shop No 74 New
Shopping Center Ghumar Mandi
Ludhiana Punjab India

01614656864
09915081311,09872493627

email: sun_astro37@yahoo.com,sun.astro37@gmail.com
wwwsunastrocom.blogspot.com
http://www.sunastro.com/
http://www.facebook.com/profile.php?id=100000371678

30 सितंबर : आज का पंचांग, ग्रह स्थिति और यात्रा की शुभ दिशा



जानिए: आज का पंचाग, किस दिशा में यात्रा करें? चोरी गई वस्तु कहां मिलेगी? आज कौन सा ग्रह, किस राशि में है?

30 सितंबर 2011: शुक्रवार, सूर्य दक्षिणायन, आश्विन मास शुक्लपक्ष, शोभन नाम संवत्सर, संवत् 2068, शरद ऋतु।

तिथि - तृतीया

विशेष - शारदीय नवरात्रि

नक्षत्र - स्वाति दोपहर 1.06 से विशाखा

सूर्योदय - 05:49

सूर्यास्त - 07:13

अक्षांश - 23:11 उत्तर

देशांश - 75:43 पूर्व

ग्रह स्थिति - चंद्र वृश्चिक राशि में, सूर्य कन्या में, मंगल कर्क में, बुध कन्या में, गुरू मेष में, शुक्र कन्या में, शनि कन्या राशि में, राहु वृश्चिक में और केतु वृष राशि में स्थित है।

किस दिशा में यात्रा - पश्चिम दिशा, यदि आवश्यक हो तो उड़द की दाल का सेवन कर के यात्रा करें।



any body who will try to steal or miss use or blog will be dealt severly acording to law

Jyotishachary Varinder Kumar JI 
Shop No 74 New
Shopping Center Ghumar Mandi
Ludhiana Punjab India

01614656864
09915081311,09872493627

email: sun_astro37@yahoo.com,sun.astro37@gmail.com
wwwsunastrocom.blogspot.com
http://www.sunastro.com/
http://www.facebook.com/profile.php?id=100000371678

नवरात्रि: इस टोटके से दाम्पत्य में आएगी खुशहाली



यदि आपका विवाहित जीवन सुखमय नहीं है और आप बहुत परेशान हो चुके हैं तो अब वह समय आ गया है जब आप एक छोटा सा टोटका कर इस समस्या से निजात पा सकते हैं। नवरात्रि में किसी भी दिन(यदि शुक्रवार हो तो विशेष शुभ) आप यह टोटका कर सकते हैं।

टोटका

नवरात्रि में सुबह जल्दी उठकर स्नान आदि कार्यों से निवृत्त होकर मां जगदंबा का एक चित्र लाल कपड़े पर रखें और उसके सामने चावल से दो स्वस्तिक बनाएं। एक स्वस्तिक पर गणेशजी को विराजमान करें और दूसरे पर गौरी-शंकर रुद्राक्ष को स्थापित करें। यह रुद्राक्ष साक्षात मां पार्वती और भगवान शिव का प्रतीक है। अब इसके सम्मुख निम्नलिखित मंत्र का 108 बार जप करें और दाम्पत्य जीवन की सफलता के लिए भगवान से प्रार्थना करें।

मंत्र- ऊँ कात्यायन्यै नम:।

अंत में इस रुद्राक्ष को मां गौरी और भगवान शिव का प्रसाद समझकर गले में धारण कर लें। शीघ्र ही आपके विवाहित जीवन में खुशियां ही खुशियां होंगी।



any body who will try to steal or miss use or blog will be dealt severly acording to law

Jyotishachary Varinder Kumar JI 
Shop No 74 New
Shopping Center Ghumar Mandi
Ludhiana Punjab India

01614656864
09915081311,09872493627

email: sun_astro37@yahoo.com,sun.astro37@gmail.com
wwwsunastrocom.blogspot.com
http://www.sunastro.com/
http://www.facebook.com/profile.php?id=100000371678

बेडरूम की इन बातों को अनदेखा न करें, बहुत जरूरी है पार्टनर के लिए...



पति-पत्नी के  दांपत्य सुख पर बेडरूम का पूरा असर पड़ता है। आपके और पार्र्टनर के बीच कोई तीसरा न हो इसके लिए आपको बेडरूम की छोटी-छोटी बातों पर ध्यान देना चाहिए। अगर आप चाहते है कि पति, पत्नी और वो की स्थिति न बनें तो वास्तु के अनुसार इन बातों पर ध्यान दें इससे आप अपने पार्टनर को खुश और सुखी रख सकते हैं।

बेडरूम का जीवन सुखी और प्यार भरा हो इसलिए वास्तु में कई उपयोगी टिप्स बताई गई हैं। इन बातों को अपनाने से वैवाहिक जीवन में खुशियां और संपन्नता बनी रहती है। पति-पत्नी अपने बीच किसी तीसरे व्यक्ति को हरगिज बर्दाश्त नहीं कर सकते लेकिन कुछ लोगों को ऐसी परिस्थिति का सामना करना पड़ता है।

-किसी के भी बेडरूम में यदि कोई दर्पण लगा है और उस दर्पण में बेड या पलंग का प्रतिबिंब दिखता है तो यह रिश्तों में खटास पैदा कर सकता है। बेड के सामने यदि कोई दर्पण हो तो पति-पत्नी को चाहिए कि रात को सोते समय उस शीशे को ढंक दें, उस पर कोई पर्दा डालकर रखें।

- पति-पत्नी पूर्व या दक्षिण में सिर रख कर सोना चाहिए इससे मन स्थिर रहता है।

- अपने बेडरूम में जूठे बर्तन नहीं रखें।

- बेडरूम की दिवारों पर नीला रंग नहीं होना चहिए।

- आपकी बेडशिट का रंग पिंक, क्रिम  या कोई हल्का रंग होना चाहिए।


any body who will try to steal or miss use or blog will be dealt severly acording to law

Jyotishachary Varinder Kumar JI 
Shop No 74 New
Shopping Center Ghumar Mandi
Ludhiana Punjab India

01614656864
09915081311,09872493627

email: sun_astro37@yahoo.com,sun.astro37@gmail.com
wwwsunastrocom.blogspot.com
http://www.sunastro.com/
http://www.facebook.com/profile.php?id=100000371678


लमसम प्रापर्टी बनाने के आसान तरीके, जो बहुत कम लोग जानते हैं...



प्रापर्टी बढ़ाने के ऐसे फंडे और गणित भी होते हैं जो बिल्कुल रिस्की नहीं है। ये ऐसे तरीके होते हैं जो बहुत कम लोगों को पता होते हैं। प्रॉपर्टी बनाना आसान काम नहीं है लेकिन ज्योतिष के अनुसार इस कठीन काम के कई आसान तरीके हैं।

ज्योतिष के अनुसार अगर धरती पुत्र मंगल देव के उपाय किए जाए और शनि देव को खुश कर लिया जाए तो प्रॉपर्टी बढ़ाना आसान काम हो जाएगा।



कौन से है ये आसान तरीके?

- हर मंगलवार को शाम सात से आठ बजे के बीच हनुमान मन्दिर जाएं और हनुमान जी को लाल गुलाब के साथ केवड़े का इत्र भी लगाएं। इससे आपको कुछ ही दिनों में  ऑफर आने लगेंगे।

- हर मंगलवार को हनुमान मंदिर में हनुमान चालीसा या बजरंग बाण का पाठ करें।

- हर मंगलवार को तांबे का सिक्का नदी में बहा दें।

- कोई प्लॉट खरीदना हो या बेचना हो तो उस प्लॉट में सिंदूर लगा तांबे का सिक्का गाड़ दें।

- हर शनिवार शनि देव को काले तिल, उड़द और तेल चढ़ाएं चढ़े हुए उड़द और तिल प्लॉट के वायु कोण यानी पश्चिम और उत्तर दिशा के बीच में काले कपड़े में रखें।

- प्रॉपर्टी के कागजात पर मंगलवार को हनुमान जी के सीधे पैर का सिंदूर लगाएं।

any body who will try to steal or miss use or blog will be dealt severly acording to law

Jyotishachary Varinder Kumar JI 
Shop No 74 New
Shopping Center Ghumar Mandi
Ludhiana Punjab India

01614656864
09915081311,09872493627

email: sun_astro37@yahoo.com,sun.astro37@gmail.com
wwwsunastrocom.blogspot.com
http://www.sunastro.com/
http://www.facebook.com/profile.php?id=100000371678

नवरात्रि के तीसरे दिन पूजें मां चंद्रघंटा को



शारदीय नवरात्रि में प्रत्येक दिन माता के एक पृथक रूप की पूजा की जाती है। माता का हर स्वरूप हमें एक संदेश देता है। शारदीय नवरात्रि के तीसरे दिन (इस बार 30 सितंबर, शुक्रवार) मां दुर्गा के चंद्रघंटा स्वरूप की पूजा की जाती है। यह शक्ति माता का शिवदूती स्वरूप है। इनके मस्तक पर घंटे के आकार का अर्धचंद्र है, इसी कारण इन्हें चंद्रघंटा देवी कहा जाता है।

असुरों के साथ युद्ध में देवी चंद्रघंटा ने घंटे की टंकार से असुरों को चित कर दिया था। यह नाद की देवी हैं, स्वर विज्ञान की देवी हैं। नवरात्रि के तृतीय दिन इनका पूजन और अर्चना का जाती है। इनके पूजन से साधक को मणिपुर चक्र के जाग्रत होने वाली सिद्धियां स्वत: प्राप्त हो जाती हैं तथा सांसारिक कष्टों से मुक्ति मिलती है



any body who will try to steal or miss use or blog will be dealt severly acording to law

Jyotishachary Varinder Kumar JI 
Shop No 74 New
Shopping Center Ghumar Mandi
Ludhiana Punjab India

01614656864
09915081311,09872493627

email: sun_astro37@yahoo.com,sun.astro37@gmail.com
wwwsunastrocom.blogspot.com
http://www.sunastro.com/
http://www.facebook.com/profile.php?id=100000371678

Wednesday, September 28, 2011

29 सितंबर : आज का पंचांग, ग्रह स्थिति और यात्रा की शुभ दिशा



जानिए: आज का पंचाग, किस दिशा में यात्रा करें? चोरी गई वस्तु कहां मिलेगी? आज कौन सा ग्रह, किस राशि में है?

29 सितंबर 2011: गुरुवार, सूर्य दक्षिणायन, आश्विन मास शुक्लपक्ष, शोभन नाम संवत्सर, संवत् 2068, शरद ऋतु।

तिथि - द्वितीया

विशेष - शारदीय नवरात्रि

नक्षत्र - चित्रा शाम 2.54 से स्वाति

सूर्योदय - 05:49

सूर्यास्त - 07:13

अक्षांश - 23:11 उत्तर

देशांश - 75:43 पूर्व

ग्रह स्थिति - चंद्र तुला राशि में, सूर्य कन्या में, मंगल कर्क में, बुध कन्या में, गुरू मेष में, शुक्र कन्या में, शनि कन्या राशि में, राहु वृश्चिक में और केतु वृष राशि में स्थित है।

किस दिशा में यात्रा - उत्तर दिशा, यदि आवश्यक हो तो गुड़ का सेवन कर के यात्रा करें।

चोरी गई वस्तु - पूर्व दिशा में चोरी गई समझें, जल्दी ही मिलेगी।



any body who will try to steal or miss use or blog will be dealt severly acording to law

Jyotishachary Varinder Kumar JI 
Shop No 74 New
Shopping Center Ghumar Mandi
Ludhiana Punjab India

01614656864
09915081311,09872493627

email: sun_astro37@yahoo.com,sun.astro37@gmail.com
wwwsunastrocom.blogspot.com
http://www.sunastro.com/
http://www.facebook.com/profile.php?id=100000371678

Tuesday, September 27, 2011

नवरात्रि में राशि अनुसार ऐसे कपड़े पहनें...



नौ दिनों की शक्ति पूजा अगर राशि अनुसार करें तो आपके हर काम पूरे होंगे। इस नवरात्रि में आप कपड़े पहन कर अपने राशि के ग्रह स्वामी को खुश करें। राशि अनुसार आपकी किस्मत बदल देंगे।

मेष: इस नवरात्रि पर्व पर शक्ति आराधना के लिए आप अपनी राशि और ग्रह के अनुसार लाल और पीले रंग के कपड़े पहनें, जिससे आपको राशि के ग्रह और शक्ति की कृपा का पूरा लाभ मिलेगा।

वृषभ: वृषभ राशि वाले इन नौ दिनों में धन संपत्ति और हर तरह का सुख प्राप्त करने के लिए अपनी राशि के देवता शुक्र और महागोरी मां प्रसन्न करें। इसके लिए सफेद और पिंक कलर के कपड़े पहनना चाहिए। जिससे आपके सोचे हुए काम पूरे होंगे।

मिथुन: इस राशि वाले लोग नवरात्रि पर्व पर देवी चंद्रघण्टा और राशि स्वामी बुध के लिए हरे कलर के  पहनें। इससे आपके कार्यों में रूकावटें नहीं आएगी।

कर्क: इस राशि वाले लोग नवरात्रि पर्व पर सफेद या हल्के रंग के कपड़े पहनें, जिससे राशि स्वामी चंद्रमा की कृपा होगी।

सिह: सिंह राशि वालों को सूर्य से संबधित दोष दूर करने के लिए  देवी कुष्माण्डा को खुश करें। इसके लिए इन्हें पीले रंग के वस्त्र पहनना चाहिए।

कन्या: आप राशि स्वामी बुध के अनुसार हरे, सफेद या हल्के हरे रंग के वस्त्र पहनें जिससे आपकी राशि की देवी भुवनेश्वरी देवी भी खुश होंगी। 

तुला: तुला राशि वालों को धनवान बननें के लिए अपने राशि स्वामी शुक्र के अनुसार सफेद और हल्के रंग के कपड़े पहनें।

वृश्चिक: वृश्चिक राशि वालों को इस नवरात्रि पर्व में लाल और केसरीया वस्त्र पहनना चाहिए, जिससे इस राशि के अधिपति देवता मंगल देव प्रसन्न होंगे। और  शैलपुत्री देवी खुश होंगी।

धनु: धनु राशि वालों को राशि स्वामी गुरू के अनुसार पीले रंग के कपड़े पहनना चाहिए। हर काम पूरे होंगे।

मकर: इस राशि वालों को नीले रंग के कपड़े पहनना चाहिए, जिससे कालिका माता प्रसन्न होगी। 

कुंभ: आप राशि स्वामी शनि देव को खुश करने के लिए इस नवरात्री पर्व पर काले या गहरे नीले रंग के वस्त्र पहने इससे कालरात्री देवी और शनि देव खुश होंगे।

मीन: इस राशि वालों पर नवरात्री में महालक्ष्मी खुश होंगी। अगर आप केसरिया, पीले या हल्के रंग के वस्त्र धारण करें। इस राशि के लोगों पर राशि स्वामी गुरू देवता भी खुश होंगे।

any body who will try to steal or miss use or blog will be dealt severly acording to law

Jyotishachary Varinder Kumar JI 
Shop No 74 New
Shopping Center Ghumar Mandi
Ludhiana Punjab India

01614656864
09915081311,09872493627

email: sun_astro37@yahoo.com,sun.astro37@gmail.com
wwwsunastrocom.blogspot.com
http://www.sunastro.com/
http://www.facebook.com/profile.php?id=100000371678

आज करें यह टोटके, घर में रहेगी सुख-शांति



आजकल हर घर में विवाद होना आम बात है। यह विवाद पति-पत्नी, सास-बहू या भाई-भाई में भी हो सकता है। इन सबके कारण घर की सुख-शांति न जानें कहां चली जाती है। परिवार के जिन लोगों का इस विवाद से कोई नाता नहीं है वे भी व्यर्थ ही परेशान होते हैं। कई बार विवाद काफी बढ़ भी जाते हैं। यदि आप भी रोज होने वाले इन विवादों से परेशान हैं तो यह टोटका करें-

टोटका

यह टोटका नवरात्रि के पहले दिन यानी 28 सितंबर को करें। 9 नारियल लें। उस पर काला धागा लपेट लें। सारा दिन उसे पूजा स्थान पर रखे रहने दें। शाम के समय उसे धागे सहित जला दें। नवरात्रि के पूरे 9 दिन तक यह प्रयोग करें। विश्वास मानें दसवें दिन आपके घर में अमन-चैन का वातावरण दिखाई देगा।

any body who will try to steal or miss use or blog will be dealt severly acording to law

Jyotishachary Varinder Kumar JI 
Shop No 74 New
Shopping Center Ghumar Mandi
Ludhiana Punjab India

01614656864
09915081311,09872493627

email: sun_astro37@yahoo.com,sun.astro37@gmail.com
wwwsunastrocom.blogspot.com
http://www.sunastro.com/
http://www.facebook.com/profile.php?id=100000371678

28 सितंबर : आज का पंचांग, ग्रह स्थिति और यात्रा की शुभ दिशा



जानिए: आज का पंचाग, किस दिशा में यात्रा करें? चोरी गई वस्तु कहां मिलेगी? आज कौन सा ग्रह, किस राशि में है?

28 सितंबर 2011: बुधवार, सूर्य दक्षिणायन, आश्विन मास शुक्लपक्ष, शोभन नाम संवत्सर, संवत् 2068, शरद ऋतु।

तिथि - प्रतिपदा

विशेष - शारदीय नवरात्रि

नक्षत्र - हस्त शाम 4.25 से चित्रा

सूर्योदय - 05:49

सूर्यास्त - 07:13

अक्षांश - 23:11 उत्तर

देशांश - 75:43 पूर्व

ग्रह स्थिति - चंद्र तुला राशि में, सूर्य कन्या में, मंगल कर्क में, बुध कन्या में, गुरू मेष में, शुक्र कन्या में, शनि कन्या राशि में, राहु वृश्चिक में और केतु वृष राशि में स्थित है।

किस दिशा में यात्रा - उत्तर दिशा, यदि आवश्यक हो तो शहद का सेवन कर के यात्रा करें।

चोरी गई वस्तु - पूर्व दिशा में चोरी गई समझें, जल्दी ही मिलेगी।

any body who will try to steal or miss use or blog will be dealt severly acording to law

Jyotishachary Varinder Kumar JI 
Shop No 74 New
Shopping Center Ghumar Mandi
Ludhiana Punjab India

01614656864
09915081311,09872493627

email: sun_astro37@yahoo.com,sun.astro37@gmail.com
wwwsunastrocom.blogspot.com
http://www.sunastro.com/
http://www.facebook.com/profile.php?id=100000371678
 

इस नवरात्रि राशि अनुसार कैसा हो आपका डांडिया...



शक्ति आराधना के इस पर्व पर ग्रह-नक्षत्र को अपने अनुकूल बनाने के लिए आपको अपनी राशि के अनुसार डांडिया उपयोग करना चाहिए। राशि अनुसार डांडिया आपकी तकदीर बदल सकता हैं। ग्रहों की राशि अनुसार डांडिया सारे दोष खत्म कर देता है।

मेष- मेष राशि वाले लोग इस नवरात्रि पर्व पर राशि स्वामी मंगल के अनुसार लाल चंदन या खेर की लकड़ी के डांडिया उपयोग करें।

वृष- इस राशि वालों को अपने राशि स्वामी के अनुसार गुलर के पेड़ की लकड़ी से डांडिया खेलना चाहिए और राशि अनुसार उस पर सफेद कपड़ा बांध लेना चाहिए।

मिथुन- इस राशि का स्वामी बुध होता है। इसलिए मिथुन राशि वालों को राशि अनुसार अपामार्ग की लकड़ी का डांडिया बना कर खेलना चाहिए या किसी भी लकड़ी के डांडीये पर हरा कपड़ा बांध लेना चाहिए।

कर्क- कर्क राशि वाले लोग अगर पैसा चाहते हैं तो पलाश या सफेद चंदन की लकड़ी का डांडिया बनाएं या किसी भी लकड़ी पर सफेद कपड़ा बांध कर डांडिया खेलें।

सिंह- राशि अनुसार आंकड़े के पेड़ की लकड़ी से बना डांडिया आपको पैसों से संबंधित फायदा दे सकता है।

कन्या- इस राशि वालों का भी राशि स्वामी बुध है इसलिए इस राशि वालों को भी अपामार्ग की लकड़ी का बना डांडिया उपयोग करना चाहिए।

तुला- सफेद पलाश या सफेद चंदन की लकड़ी का डांडिया इस नवरात्रि में आपकी किस्मत चमका सकता है।

वृश्चिक- इस राशि के लोग मंगल देव के अनुसार खैर के पेड़ की लकड़ी का डांडिया उपयोग करें ये आपकी ग्रह दशा सुधार देगा।

धनु- इस राशि वालों का राशि स्वामी गुरु है। धनु राशि वालों के लिए पीपल की लकड़ी शुभ फल देने वाली होती है। इस राशि के लोग पीपल के पेड़ की लकड़ी का डांडिया उपयोग करें

मकर- मकर राशि वालों को राशि अनुसार शनि देव की कृपा के लिए शमि के पेड़  की लकड़ी का डांडिया उपयोग करना चाहिए।

कुंभ- इस राशि वालों का भी राशि स्वामी शनि है इसलिए कुंभ राशि वालों को भी शमि की लकड़ी का उपयोग करना चाहिए।

मीन- मीन राशि के लोग पीले चंदन की लकड़ी का उपयोग डांडिया बनाने के लिए करें। इस राशि वालों के लिए पीपल की लकड़ी का भी उपयोग कर सकते हैं।



any body who will try to steal or miss use or blog will be dealt severly acording to law

Jyotishachary Varinder Kumar JI 
Shop No 74 New
Shopping Center Ghumar Mandi
Ludhiana Punjab India

01614656864
09915081311,09872493627

email: sun_astro37@yahoo.com,sun.astro37@gmail.com
wwwsunastrocom.blogspot.com
http://www.sunastro.com/
http://www.facebook.com/profile.php?id=100000371678

Monday, September 26, 2011

तैयार रहें, आने वाले नौ दिनों में ही बदलेगी तकदीर



नवरात्रि शक्ति का पर्व है। नवरात्री के नौ दिनों में आप अपने सोचे हुए हर काम पूरे कर सकते हैं। इन नौ दिनों में तकदीर बदलने के लिए आपको अपनी राशि के  अनुसार देवी पूजा करना चाहिए। ज्योतिषाचार्य Varinder Kumar JI  के अनुसार   के अनुसार दश महाविद्या में अपनी राशि के लिए एक अलग महाविद्या की पूजा करने से हर काम पूरे होते हैं।

मेष- राशि के लोग शक्ति पूजा के लिए दस महाविद्या में दूसरे नंबर की शक्ति तारा देवी की पूजा करें। इस महाविद्या का स्वभाव मंगल की तरह उग्र  है। मेष राशि वाले महाविद्या की साधना के लिए इस मंत्र का जप करें।

मंत्र- ह्रीं स्त्रीं हूं फट्

 वृषभ राशि वाले पैसा प्राप्त करने के लिए श्री विद्या यानि षोडषी देवी की साधना करें और इस मंत्र का जप करें।

मंत्र- ऐं क्लीं सौ:

मिथुन- अपना गृहस्थ जीवन सुखी बनाने के लिए मिथुन राशि वाले भुवनेश्वरी देवी की साधना करेंं। साधना मंत्र इस प्रकार है।

मंत्र- ऐं ह्रीं

कर्क- इस नवरात्रि पर कर्क राशि वाले कमला देवी का पूजन करें। इनकी पूजा से धन व सुख मिलता है। नीचे लिखे मंत्र का जप करें।

 मंत्र- ऊं श्रीं

सिंह - सिंह राशि वालों को मां बगलामुखी की आराधना करना चाहिए। जिससे शत्रुओंं पर विजय मिलती है।

मंत्र- ऊं हीं बगलामुखी सर्वदुष्टानां वाचं मुखं पदं स्तंभय

      जिहां कीलय कीलय बुद्धिं विनाशाय हृीं ऊं स्वाहा

कन्या- आप चतुर्थ महाविद्या भुवनेश्वरी देवी की साधना करें आपको निश्चित ही सफलता मिलेगी।

 मंत्र- ऐं ह्रीं ऐं

तुला-राशि वालों को सुख व ऐश्वर्य की प्राप्ति के लिए षोडषी देवी की साधना करनी चाहिए।

 मंत्र- ऐं क्लीं सौ:

वृश्चिक- राशि वाले तारा देवी की साधना करें। इससे आपको शासकीय कार्यों में सफलता मिलेगी।

 मंत्र- श्रीं ह्रीं स्त्रीं हूं फट्

धनु- और यश पाने के लिए धनु राशि वाले कमला देवी के  इस मंत्र का जप करें।

 मंत्र- श्रीं

मकर- राशि के जातक अपनी राशि के अनुसार मां काली की उपासना करें।

 मंत्र- क्रीं कालीकाये नम:

कुंभ- राशि वाले भी काली की उपासना करें इससे उनके शत्रुओं का नाश होगा।

 मंत्र- क्रीं कालीकाये नम:

मीन- इस राशि के जातक सुख समृद्धि के लिए कमला देवी की उपासना करें।

मंत्र- श्री कमलाये नम:



any body who will try to steal or miss use or blog will be dealt severly acording to law

Jyotishachary Varinder Kumar JI 
Shop No 74 New
Shopping Center Ghumar Mandi
Ludhiana Punjab India

01614656864
09915081311,09872493627

email: sun_astro37@yahoo.com,sun.astro37@gmail.com
wwwsunastrocom.blogspot.com
http://www.sunastro.com/
http://www.facebook.com/profile.php?id=100000371678

अमावस्या: आज गुड़-घी जलते हुए कंडे पर जरूर डाल दें, क्योंकि...



वर्ष 2011 का पितृ पक्ष मंगलवार 27 सितंबर को पूर्ण होने जा रहा है। इस दिन सर्वपितृ अमावस्या है। शास्त्रों के अनुसार इस अमावस्या पर पितरों की तृप्ति के लिए विशेष पूजन किया जाना चाहिए।

पितृ पक्ष में पितरों को प्रसन्न करने, उन्हें तृप्त करने के लिए विशेष पूजन आदि करने का विधान है। ऐसा माना जाता है इस समय पितरों को तृप्त करने से हमें सभी सुख-सुविधाएं प्राप्त होती हैं और सभी बिगड़े कार्य बन जाते हैं।

शास्त्रों में बताया गया है कि जब तक हमारे पितर देवता हमसे प्रसन्न और संतुष्ट नहीं होंगे तब तक अन्य देवी-देवताओं की कृपा प्राप्त नहीं की जा सकती। इसी वजह से पहले पितर देवताओं को प्रसन्न करना अनिवार्य है।

आज सर्वपितृ अमावस्या के दिन में ठीक बारह बजे मुख्य दरवाजे के बाहर सफाई करें। अब दरवाजे के दोनो ओर एक-एक बड़ा दीपक रखें। उसमें कंडें को सुलगाकर उसका पूजन करें। दीपक के पूजन के बाद स्वधा नम: बोलकर गुड़-घी मिश्रित पांच बार कंडे में डाल दें। इससे पितृ तृप्त होते हैं। आपकी सभी मनोकामनाएं पूर्ण होंगी।



any body who will try to steal or miss use or blog will be dealt severly acording to law

Jyotishachary Varinder Kumar JI 
Shop No 74 New
Shopping Center Ghumar Mandi
Ludhiana Punjab India

01614656864
09915081311,09872493627

email: sun_astro37@yahoo.com,sun.astro37@gmail.com
wwwsunastrocom.blogspot.com
http://www.sunastro.com/
http://www.facebook.com/profile.php?id=100000371678


आज करें यह टोटका, मिलेगी कालसर्प दोष से मुक्ति



आज (27 सितंबर, मंगलवार) को पितृ पक्ष का अंतिम दिवस है। इसे सर्वपितृ अमावस्या भी कहते हैं। इस दिन श्राद्ध करने से सभी पितृ तृप्त हो जाते हैं। धर्म शास्त्रों के अनुसार यह दिन कालसर्प दोष से मुक्ति पाने के लिए उपयुक्त होता है। कालसर्प दोष जब किसी की कुंडली में होता है तो उसे सफलता मिलने में काफी समय लगता है और उसे जीवन में अनेक उतार-चढ़ाव देखने पड़ते हैं। यदि आप भी कालसर्प दोष से पीडि़त हैं तो नीचे लिखा यह टोटका करें-

टोटका

सर्वपितृ अमावस्या के दिन शाम के समय 1 किलो कच्चे कोयले व 3 नारियल ले जाकर बहते पानी में डालें। सबसे पहले एक-एक नारियल डालें फिर एक साथ सभी कोयले डाल दें। उसके बाद अपने घर आ जाएं। घर आने के बाद 1 माला महामृत्युंजय मंत्र का जप करें। ध्यान रहे यह टोटका अनटोका करें और लगातार करें।

इस टोटके से कालसर्प दोष का प्रभाव कम हो जाएगा और आपको जीवन में सफलता मिलने लगेगी।

any body who will try to steal or miss use or blog will be dealt severly acording to law

Jyotishachary Varinder Kumar JI 
Shop No 74 New
Shopping Center Ghumar Mandi
Ludhiana Punjab India

01614656864
09915081311,09872493627

email: sun_astro37@yahoo.com,sun.astro37@gmail.com
wwwsunastrocom.blogspot.com
http://www.sunastro.com/
http://www.facebook.com/profile.php?id=100000371678

27 सितंबर : आज का पंचांग, ग्रह स्थिति और यात्रा की शुभ दिशा



जानिए: आज का पंचाग, किस दिशा में यात्रा करें? चोरी गई वस्तु कहां मिलेगी? आज कौन सा ग्रह, किस राशि में है?

27 सितंबर 2011: मंगलवार, सूर्य दक्षिणायन, आश्विन मास कृष्णपक्ष, शोभन नाम संवत्सर, संवत् 2068, शरद ऋतु।


तिथि - अमावस्या

विशेष - सर्वपितृ अमावस्या

नक्षत्र - उत्तरा फाल्गुनी रात 6.30 से हस्त

सूर्योदय - 05:49

सूर्यास्त - 07:13

अक्षांश - 23:11 उत्तर

देशांश - 75:43 पूर्व

ग्रह स्थिति - चंद्र कन्या राशि में, सूर्य कन्या में, मंगल कर्क में, बुध कन्या में, गुरू मेष में, शुक्र कन्या में, शनि कन्या राशि में, राहु वृश्चिक में और केतु वृष राशि में स्थित है।

किस दिशा में यात्रा - उत्तर दिशा, यदि आवश्यक हो तो गुड़ का सेवन कर के यात्रा करें।

चोरी गई वस्तु - दक्षिण दिशा में चोरी गई समझें, कोशिशों के बाद मिलेगी।



any body who will try to steal or miss use or blog will be dealt severly acording to law

Jyotishachary Varinder Kumar JI 
Shop No 74 New
Shopping Center Ghumar Mandi
Ludhiana Punjab India

01614656864
09915081311,09872493627

email: sun_astro37@yahoo.com,sun.astro37@gmail.com
wwwsunastrocom.blogspot.com
http://www.sunastro.com/
http://www.facebook.com/profile.php?id=100000371678

Sunday, September 25, 2011

जानिए राशिफल: चार ग्रह एक साथ एक राशि में, कैसा रहेगा आज?



ज्योतिष के अनुसार आज सोमवार को कन्या राशि में एक साथ चार ग्रह स्थित हैं। ये ग्रह हैं सूर्य, बुध, शुक्र और शनि। इन ग्रहों को आपकी राशि पर क्या प्रभाव पड़ेगा जानिए...

मेष- वक्री गुरु का अष्टम होना विदेश जाने वाले को निराश कर सकता है। व्यय की अधिकता रहेगी। माता के सुख में कमी आएगी। घन संग्रह में कमी होने की संभावना है। नया मकान खरीदने की योजना बनेगी। केले के पेड़ का पूजन करें। शुभ रंग सफेद, अंक 12.

वृषभ- संपर्कों का लाभ मिलेगा। सभी ओर से आपको खुशियों के समाचार मिलेंगे। भाई-बंधुओं से सहयोग प्राप्त होगा। कार्यालय में आपके वर्चस्व में वृद्धि होगी। दांपत्य जीवन में तनाव मे कमी आएगी। स्वास्थ्य में सुधार होगा। शिव को जल अर्पण करें। शुभ रंग महरुन, अंक 2.

मिथुन- आपके कार्यों की प्रशंसा होगी। माता-पिता का सहयोग प्राप्त होगा। सुख में वृद्धि होगी। आर्थिक मामलों में मदद प्राप्त होगी। विवादों में विजय प्राप्त होगी। संपत्ति से लाभ प्राप्त होगा। गणेशजी का दर्शन करें। शुभ रंग हरा, अंक 6.

कर्क- जमीनी मामलों में नुकसान हो सकता हैं। कोर्ट-कचहरी के मामलों में आप कमजोर पड़ सकते हैं। संतान से विवाद आपको आहत करेगा। कर्ज लेने की आवश्यकता महसूस होगी। मसूर की दाल का दान करें। शुभ रंग केशरी, अंक 8.

सिंह- आपको सरकारी महकमों से सहयोग मिलेगा। कार्य स्थान में सभी से सहयोग प्राप्त होगा। अधिकारी आपके पक्ष में रहेंगे। परिवार में उत्सव माहौल रहेगा। कार्य समय पर संपन्न होंगे। सफेद वस्त्र धारण करें। शुभ रंग सफेद, अंक 4.

कन्या- चार ग्रहों की युति आपकी राशि में आपको समस्त सुख प्रदान करेगी। धर्म की तरफ आपका रुझान होगा। मन प्रसन्न रहेगा। जीवन साथी से सुख मिलेगा। प्रतियोगिताओं में सफलता मिलेगी। गाय को हरा चारा दें। शुभ रंग काला, अंक 7.

तुला- भौतिक सुखों की प्राप्ति होगी। नए वाहन, मकान खरीदने का मन बनेगा किंतु निवेश से बचने का प्रयास करें। गले एवं कंधे में तकलीफ हो सकती है। व्यापार में तरक्की होगी। विवादों मे विजय प्राप्त होगी। हनुमानजी को दीपक लगाएं। शुभ रंग नीला, अंक 2.

वृश्चिक- भूमि-भवन में निवेश से बचें। कार्य में देरी से मन खिन्न रहेगा। शत्रुओं से सावधान रहने की आवश्यकता हैं। कार्य की ओर से मन खिन्न रहेगा। रोग से छुटकारा मिलेगा। अनुभवी लोगों से सलाह लेकर ही कार्य करें। लाल तिलक लगाएं। शुभ रंग स्लेटी, अंक 11.

धनु- विपरित लिंग की ओर आकर्षण होगा। विवाह संबंधों की प्राप्ति होगी। अपने कार्य को दूसरों पर न छोडें। जरुरतों को पूरा करने हेतु ऋण लेने की आवश्यकता महसूस होगी। नवीन वस्त्राभूषणों की प्राप्ति होगी। लाल पुष्प दुर्गाजी को अर्पण करें। शुभ रंग लाल, अंक 3.

मकर- आप किसी की बातों में आकर अपना नुकसान कर सकते हैं। सावधान रहें। कार्य की अधिकता रहेगी। महत्वपूर्ण कार्य हेतु यात्रा का योग हैं। जमीन से लाभ प्राप्त होगा। परिवार से संबंधों में सुधार होगा। शिव-पार्वती का पूजन करें। शुभ रंग आसमानी, अंक 1.

कुंभ- कारोबार मे तेजी रहेगी। पुराने रोगों से छुटकार मिलेगा। आत्मविश्वास में वृद्धि होगी। कार्य जल्दबाजी से नुकसान हो सकता हैं। बेरोजगारों को रोजगार की प्राप्ति होगी। विरोधियों आपसे सहमत होंगे। हनुमानजी को बांए पैर पर तेल अर्पण करें। शुभ रंग जामुनी, अंक 9.

मीन- व्यापार में लाभ प्राप्त करेंगे। जीवन साथी से सहयोग मिलेगा। शुभ समाचारों की प्राप्ति होगी। स्पर्धाओं में सफलता प्राप्त होगी। समस्याओं का निदान होगा। कोर्ट-कचहरी में सफलता मिलेगी। नीम को जल अर्पण करें। शुभ रंग गुलाबी, अंक 10.

any body who will try to steal or miss use or blog will be dealt severly acording to law

Jyotishachary Varinder Kumar JI 
Shop No 74 New
Shopping Center Ghumar Mandi
Ludhiana Punjab India

01614656864
09915081311,09872493627

email: sun_astro37@yahoo.com,sun.astro37@gmail.com
wwwsunastrocom.blogspot.com
http://www.sunastro.com/
http://www.facebook.com/profile.php?id=100000371678

26 सितंबर : आज का पंचांग, ग्रह स्थिति और यात्रा की शुभ दिशा



जानिए: आज का पंचाग, किस दिशा में यात्रा करें? चोरी गई वस्तु कहां मिलेगी? आज कौन सा ग्रह, किस राशि में है?

26 सितंबर 2011: सोमवार, सूर्य दक्षिणायन, आश्विन मास कृष्णपक्ष, शोभन नाम संवत्सर, संवत् 2068, शरद ऋतु।

तिथि - चतुर्दशी

नक्षत्र - पूर्वा फाल्गुनी रात 7.34 से उत्तरा फाल्गुनी

सूर्योदय - 05:49

सूर्यास्त - 07:13

अक्षांश - 23:11 उत्तर

देशांश - 75:43 पूर्व

ग्रह स्थिति - चंद्र सिंह रात 1.12 बजे से कन्या राशि में, सूर्य कन्या में, मंगल कर्क में, बुध कन्या में, गुरू मेष में, शुक्र कन्या में, शनि कन्या राशि में, राहु वृश्चिक में और केतु वृष राशि में स्थित है।

किस दिशा में यात्रा - पूर्व दिशा, यदि आवश्यक हो तो घी का सेवन कर के यात्रा करें।

चोरी गई वस्तु - पश्चिम दिशा में चोरी गई समझें, नहीं मिलेगी।

any body who will try to steal or miss use or blog will be dealt severly acording to law

Jyotishachary Varinder Kumar JI 
Shop No 74 New
Shopping Center Ghumar Mandi
Ludhiana Punjab India

01614656864
09915081311,09872493627

email: sun_astro37@yahoo.com,sun.astro37@gmail.com
wwwsunastrocom.blogspot.com
http://www.sunastro.com/
http://www.facebook.com/profile.php?id=100000371678
 

संडे फंडा: करें सूर्य यंत्र का पूजन, मिलेगा हर सुख



यदि किसी व्यक्ति की कुंडली में सूर्य अशुभ हो तो उसे हर कार्य में असफलता ही हाथ लगती है। अधिक मेहनत करने पर भी उसका फल नहीं मिलता। कई बार ऐसी स्थिति भी आ जाती है वह जीवन से पूरी तरह से निराश हो जाता है। ऐसी स्थिति में सूर्य यंत्र का विधि-विधान पूर्वक पूजन करने से सूर्य अशुभ होने पर भी शीघ्र ही शुभ फल प्राप्त होने लगते हैं।

सूर्य यंत्र दो प्रकार के होते हैं। पहला नौग्रहों का एक ही यंत्र होता है तथा दूसरा नौग्रहों का अलग-अलग नौयंत्र होता है। प्राय: दोनों यंत्रों के एक जैसे ही कार्य एवं लाभ होते हैं। इस यंत्र को सम्मुख रखकर नौग्रहों की उपासना करने से सफलता तो मिलती ही है साथ स्वास्थ्य संबंधी समस्याएं भी स्वत: ही समाप्त हो जाती हैं। व्यापार में लाभ होता है, समाज में यश तथा प्रतिष्ठा प्राप्त होती है।

यंत्र का उपयोग 

- इस यंत्र का पूजन प्रतिदिन सुबह सूर्योदय के समय करना चाहिए।

- पूजन के पश्चात नीचे लिखे मंत्र का जप यथाशक्ति करने से तुरंत लाभ मिलता है-

मंत्र-

ऊँ ह्रां, ह्रीं, ह्रौं स: सूर्याय नम:

लाभ

1- इस प्रकार सूर्य यंत्र की पूजा करने से मानसिक तनाव दूर होगा।

2- बिमारियों से छुटकारा मिलेगा।

3- जीवन में सफलता मिलने की संभावना बढ़ेगी।

4- यदि आपके जीवन में किसी प्रकार की निराशा है तो वह भी दूर होगी।

any body who will try to steal or miss use or blog will be dealt severly acording to law

Jyotishachary Varinder Kumar JI 
Shop No 74 New
Shopping Center Ghumar Mandi
Ludhiana Punjab India

01614656864
09915081311,09872493627

email: sun_astro37@yahoo.com,sun.astro37@gmail.com
wwwsunastrocom.blogspot.com
http://www.sunastro.com/
http://www.facebook.com/profile.php?id=100000371678

Saturday, September 24, 2011

25 सितंबर : आज का पंचांग, ग्रह स्थिति और यात्रा की शुभ दिशा



 

जानिए: आज का पंचाग, किस दिशा में यात्रा करें? चोरी गई वस्तु कहां मिलेगी? आज कौन सा ग्रह, किस राशि में है?

25 सितंबर 2011: रविवार, सूर्य दक्षिणायन, आश्विन मास कृष्णपक्ष, शोभन नाम संवत्सर, संवत् 2068, शरद ऋतु।

तिथि - त्रयोदशी

नक्षत्र - मघा रात 8.51 से पूर्वा फाल्गुनी

सूर्योदय - 05:49

सूर्यास्त - 07:13

अक्षांश - 23:11 उत्तर

देशांश - 75:43 पूर्व

ग्रह स्थिति - चंद्र सिंह में, सूर्य कन्या में, मंगल कर्क में, बुध कन्या में, गुरू मेष में, शुक्र कन्या में, शनि कन्या राशि में, राहु वृश्चिक में और केतु वृष राशि में स्थित है।

किस दिशा में यात्रा - पश्चिम दिशा, यदि आवश्यक हो तो दूध का सेवन कर के यात्रा करें।

चोरी गई वस्तु - पश्चिम दिशा में चोरी गई समझें, नहीं मिलेगी।

any body who will try to steal or miss use or blog will be dealt severly acording to law

Jyotishachary Varinder Kumar JI 
Shop No 74 New
Shopping Center Ghumar Mandi
Ludhiana Punjab India

01614656864
09915081311,09872493627

email: sun_astro37@yahoo.com,sun.astro37@gmail.com
wwwsunastrocom.blogspot.com
http://www.sunastro.com/
http://www.facebook.com/profile.php?id=100000371678

25 सितंबर : आज का पंचांग, ग्रह स्थिति और यात्रा की शुभ दिशा

 

जानिए: आज का पंचाग, किस दिशा में यात्रा करें? चोरी गई वस्तु कहां मिलेगी? आज कौन सा ग्रह, किस राशि में है?

25 सितंबर 2011: रविवार, सूर्य दक्षिणायन, आश्विन मास कृष्णपक्ष, शोभन नाम संवत्सर, संवत् 2068, शरद ऋतु।

तिथि - त्रयोदशी

नक्षत्र - मघा रात 8.51 से पूर्वा फाल्गुनी

सूर्योदय - 05:49

सूर्यास्त - 07:13

अक्षांश - 23:11 उत्तर

देशांश - 75:43 पूर्व

ग्रह स्थिति - चंद्र सिंह में, सूर्य कन्या में, मंगल कर्क में, बुध कन्या में, गुरू मेष में, शुक्र कन्या में, शनि कन्या राशि में, राहु वृश्चिक में और केतु वृष राशि में स्थित है।

किस दिशा में यात्रा - पश्चिम दिशा, यदि आवश्यक हो तो दूध का सेवन कर के यात्रा करें।

चोरी गई वस्तु - पश्चिम दिशा में चोरी गई समझें, नहीं मिलेगी।

any body who will try to steal or miss use or blog will be dealt severly acording to law

Jyotishachary Varinder Kumar JI 
Shop No 74 New
Shopping Center Ghumar Mandi
Ludhiana Punjab India

01614656864
09915081311,09872493627

email: sun_astro37@yahoo.com,sun.astro37@gmail.com
wwwsunastrocom.blogspot.com
http://www.sunastro.com/
http://www.facebook.com/profile.php?id=100000371678



















































































































































25 सितंबर 2011: रविवार, सूर्य दक्षिणायन, आश्विन मास कृष्णपक्ष, शोभन नाम संवत्सर, संवत् 2068, शरद ऋतु।



तिथि - त्रयोदशी



नक्षत्र - मघा रात 8.51 से पूर्वा फाल्गुनी



सूर्योदय - 05:49



सूर्यास्त - 07:13



अक्षांश - 23:11 उत्तर



देशांश - 75:43 पूर्व



ग्रह स्थिति - चंद्र सिंह में, सूर्य कन्या में, मंगल कर्क में, बुध कन्या में, गुरू मेष में, शुक्र कन्या में, शनि कन्या राशि में, राहु वृश्चिक में और केतु वृष राशि में स्थित है।



किस दिशा में यात्रा - पश्चिम दिशा, यदि आवश्यक हो तो दूध का सेवन कर के यात्रा करें।



चोरी गई वस्तु - पश्चिम दिशा में चोरी गई समझें, नहीं मिलेगी।

27 को करें यह टोटका, पितृ दोष दूर होगा



श्राद्ध पक्ष की अमावस्या (27 सितंबर, मंगलवार) को सभी ज्ञात-अज्ञात पितरों का श्राद्ध किए जाने का विधान है। इस दिन श्राद्ध करने से उस पितरों को भी तृप्ति होती है जिनके बारे में हम जानते भी नहीं। इस दिन यदि एक छोटा सा टोटका किया जाए तो पितृ दोष का प्रभाव कम होता है।

टोटका 

सर्वपितृ अमावस्या के दिन सुबह सूर्योदय से पहले उठकर स्नान आदि नित्य कर्म से निवृत्त होकर पश्चिम दिशा में मुख करके आसन पर बैठ जाएं। सामने बाजोट(पटिए) पर लाल रंग का वस्त्र बिछाकर एक थाली में कुंकुम से त्रिकोण बनाएं। त्रिकोण के तीनों कोनों पर एक-एक लघु नारियल रख दें एवं बीच में राहु यंत्र स्थापित करें। कुंकुम, चावल, अक्षत, नैवेद्य आदि अर्पित कर उपरोक्त मंत्र की 3 माला जपें।

मंत्र

ऊँ श्रीं सर्व पितृ दोष निवारणाय क्लेश दन दन सुख शांति देहि देहि फट् स्वाहा

लघु नारियलों एवं राहु यंत्र को किसी नदी में प्रवाहित कर दें। इस प्रकार यह प्रयोग करने से पितृ दोष का प्रभाव कम होता है।



any body who will try to steal or miss use or blog will be dealt severly acording to law

Jyotishachary Varinder Kumar JI 
Shop No 74 New
Shopping Center Ghumar Mandi
Ludhiana Punjab India

01614656864
09915081311,09872493627

email: sun_astro37@yahoo.com,sun.astro37@gmail.com
wwwsunastrocom.blogspot.com
http://www.sunastro.com/
http://www.facebook.com/profile.php?id=100000371678

पार्टनर को खुश करना है तो बेडरूम सजाएं इस अनोखे अंदाज से...



अगर आप पार्टनर के जीवन में दांपत्य सुख और खुशियों से भर देना चाहते है तो  आपको अपने बेडरूम पर ध्यान देना चाहिए। इससे आपके जीवन में प्यार ही प्यार भर जाएगा। अगर आपके साथी से विचार नही मिलते, छोटी छोटी बात पर अनबन हो जाती है और तनाव  भी बना रहता है तो इसका कारण घर का वास्तु दोष होता है।  इस दोष से छुटकारा पाने के लिए आपको घर की सजावट वास्तु के अनुसार करना चाहिए जिससे पति और पत्नी में जीवनभर प्यार बना रहता है।

क्या करें दोष मिटाने के लिए-
-बेडरूम के दक्षिण-पश्चिम में अगर क्रिस्टल ग्लास के बने झाडफ़ानूस का इस्तेमाल करना चाहिए। इसमें लाल बल्ब लगाएं।

- बेडरूम सजाकर रखें, यहां कबाड़ न जमा होने दें। ध्यान रखें की यहां साइड टेबल पर कोई भी वस्तु धूल भरी, बेतरतीब और बिखरी हुई न हो।

- लवबर्ड, मैंडरेन डक जैसे पक्षी प्रेम के प्रतीक हैं इनकी छोटी मूर्तियों का जोड़ा अपने बेडरूम में रखें।

- बेडरूम में पानी की तस्वीर वाली पेंटिंग न लगाएं इसके स्थान पर रोमांटिक कलाकृति, युगल पक्षी की तस्वीर लगाएं।

- दांपत्य रिश्तों की अधिक प्रगाढ़ता के लिए अपने पलंग के नीचे जिस ओर आप अपने पैर रखते हैं, उसके नीचे पवित्र क्रिस्टल बॉल या तराशा हुआ क्रिस्टल रखें।

- दक्षिण-पश्चिम खंड में हमेशा पृथ्वी या अग्नि से जुड़े रंगों का ही प्रयोग करें। पर्दे, कुशन, खिड़कियों आदि में इनका उपयोग ठीक रहता है। लाल रंग रोमांस को दर्शाता है। अगर इसका प्रयोग ज्यादा गहरा लगे तो गुलाबी रंग करवा लें।

- प्रेम को बढ़ाने के लिए घर के दक्षिण-पश्चिम भाग में कांच या सिरामिक पॉट में छोटे-छोटे पत्थर या क्रिस्टल्स डालकर लाल रंग की दो मोमबत्तियां जलाएं। इससे सकारात्मक ऊर्जा फैलेगी और आपकी जोड़ी सलामत रहेगी।

- यदि आपको लगे कि आपका प्यार छिन रहा है तो आप अपने कमरे में शंख या सीपी अवश्य रखें। इससे आपका प्यार आपसे दूर नहीं जाएगा।




any body who will try to steal or miss use or blog will be dealt severly acording to law

jyotishachary Varinder Kumar JI 
Shop No 74 New 
Shopping Center Ghumar Mandi
Ludhiana Punjab India
01614656864
09915081311
email: sun_astro37@yahoo.com