Wednesday, November 30, 2011

मानो या न मानो: गाय, कुत्ता, कौआ, कबूतर भी देते हैं आने वाले कल के इशारे


आपको यकीन नहीं होगा ये जानकर कि क्या जानवर भी आपका भविष्य बता सकते हैं। लेकिन ये सच है। ये बात तो रहस्य है कि ये जानवर कैसे बता देते हैं कि आने वाले कल में क्या होने वाला है लेकिन ज्योतिष का मानना है कि जानवरों को पूर्वाभास हो जाता है कि आने वाले कल में क्या घटना होने वाली है।



जनिए कैसे


गाय- अगर आपका कोई काम होने वाला है या आप किसी काम के लिए जा रहे हैं तब गाय रम्भा दे तो समझ लेना चहिए आपका सोचा हुआ काम पूरा होगा।


कौआ- अगर आपके साथ कुछ बुरा या अशुभ होने वाला है तो कौआ आपके सिर पर चौंच मार के आपको बाता देगा।


कुत्ता- अगर आपके साथ कुछ बुरा या अशुभ होने वाला है तो कुत्ता आपके घर की तरफ मुंह कर के रोने लगेगा।


बिल्ली- अगर आपके साथ कुछ बुरा होने वाला है तो बिल्ली रास्ता काट लेगी।


कबूतर- अगर आपके घर पर कबूतरों का डेरा लगा है तो समझना चाहिए घर का कोई सदस्य कम होने वाला है या धीरे-धीरे वो घर सुनसान होने वाला है।

any body who will try to steal or miss use or blog will be dealt severly acording to law

Jyotishachary Varinder Kumar JI 
Shop No 74 New
Shopping Center Ghumar Mandi
Ludhiana Punjab India

01614656864
09915081311,09872493627

email: sun_astro37@yahoo.com,sun.astro37@gmail.com
wwwsunastrocom.blogspot.com
http://www.sunastro.com/
http://www.facebook.com/profile.php?id=100000371678

Monday, November 28, 2011

हर समस्या का निदान संभव है हत्थाजोड़ी से



तंत्र क्रियाओं में अनेक वनस्पतियों का उपयोग किया जाता है, हत्थाजोड़ी भी उन्हीं में से एक है। तंत्र शास्त्र में हत्थाजोड़ी को बहुत ही चमत्कारी माना गया है। इसे साथ या घर में रखने से ही कई संकट टल जाते हैं। नीचे हत्थाजोड़ी के कुछ अचूक टोटके बताए गए हैं जिन्हें करने से जीवन की हर परेशानी पर काबू पाया जा सकता है। यह इस प्रकार हैं-

1- हत्थाजोड़ी को सिंदूर में, चमेली के इत्र व लौंग के साथ डिब्बी में भरकर रखने से धन आगमन होता है।

2- यदि एक हत्थाजोड़ी, तीन लौंग तथा कुछ राई के दाने लेकर लाल कपड़े में बांधकर अपने सिर पर 11 बार घुमाकर मंगलवार के दिन घर की जमीन में गाड़ दें तो घर पर किया हुआ तंत्र प्रयोग समाप्त हो जाता है।

3- हत्थाजोड़ी को सिंदूर से भरी हुई डिब्बी में रखकर अपने व्यापारिक स्थर पर स्थापित करने से व्यापार में उन्नति होती है।

4- किसी विशेष कार्य के लिए जाते समय हत्थाजोड़ी साथ में रखें तो कार्य सफल होता है।


any body who will try to steal or miss use or blog will be dealt severly acording to law

Jyotishachary Varinder Kumar JI 
Shop No 74 New
Shopping Center Ghumar Mandi
Ludhiana Punjab India

01614656864
09915081311,09872493627

email: sun_astro37@yahoo.com,sun.astro37@gmail.com
wwwsunastrocom.blogspot.com
http://www.sunastro.com/
http://www.facebook.com/profile.php?id=100000371678

प्रॉपर्टी में निवेश करने की सोच रहे हैं तो पहले ये पढ़ लें आपके लिए है खास



अगर आप चाहते हैं कि प्रॉपर्टी इनवेस्टमेंट में आपको फायदा मिलें तो पहले ये पढ़ लें। हम बता रहे हैं कि आपको राशि के अनुुसार कहां इनवेस्ट करना है। ज्योतिष के अनुसार आपको किस दिशा में प्रॉपर्टी खरीदना है?



अगर आपकी राशि मेष या वृश्चिक है तो आपके लिए दक्षिण दिशा शुभ है। अगर दक्षिण न हो तो ईशान कोण में प्रॉपर्टी खरीदें। लेकिन जहां तक संभव हो उत्तर दिशा में निवेश से बचना चाहिए।



मिथुन या कन्या राशि वालों के लिए उत्तर दिशा श्रेष्ठ है। अगर इस राशि के लोग जन्म स्थान से उत्तर दिशा में प्रोपर्टी में निवेश करें तो फायदेमंद होगा।



कर्क और सिंह राशि वाले लोग सूर्य और चंद्रमा से प्रभावित होते हैं। कर्क राशि वालों के लिए पूर्व दिशा और वायव्य कोण एवं सिंह राशि का वालों के लिए दक्षिण दिशा अनुकूल है।



अगर आपकी राशि वृष या तुला है तो आपके लिए दक्षिण दिशा अनुकूल है।



मकर और कुंभ राशि वालों के लिए पश्चिम दिशा लाभदायक है। इस राशि वालों के लिए नैऋत्य कोण भी पैसों में वृद्धिदायक रहता है।



धनु और मीन राशि वालों के लिए ईशान कोण यानी पूर्व-उत्तर दिशा शुभ है। इन राशि के व्यक्तियों को जन्म स्थान से दूर निवेश करना हो, तो पूर्व और उत्तर दिशा में ही करना चाहिए।



any body who will try to steal or miss use or blog will be dealt severly acording to law

Jyotishachary Varinder Kumar JI 
Shop No 74 New
Shopping Center Ghumar Mandi
Ludhiana Punjab India

01614656864
09915081311,09872493627

email: sun_astro37@yahoo.com,sun.astro37@gmail.com
wwwsunastrocom.blogspot.com
http://www.sunastro.com/
http://www.facebook.com/profile.php?id=100000371678

अपने कम्प्यूटर पर दौड़ते हुए घोड़े का वालपेपर लगाएं, क्योंकि...



क्या आप जानते हैं आपके कम्प्यूटर का वालपेपर आपके कार्य को प्रभावित करता है। यदि आप चाहते हैं कि आप अपने कार्य में एकदम परफेक्ट हो और कार्य फटाफट कम्प्लीट हो जाए। तो अपने डेस्कटॉप पर दौड़ते हुए घोड़े का फोटो लगाएं।

यदि आपके डेस्कटॉप पर दौड़ते हुए घोड़े का फोटो होगा तो सच मानिए आपके कार्य में तेजी आएगी। घोड़ा हमेशा से ऊर्जा का प्रतीक रहा है। इसे देखकर कार्य में ध्यान लगता है और ऊर्जा मिलती है। यदि आपको अक्सर नकारात्मक विचारों से जुझना पड़ता है तो यह फोटो आपके विचारों पर भी अच्छा प्रभाव डालेगा।

शास्त्रों के अनुसार घोड़े को शक्ति का पर्याय माना गया है। ये एक ऐसा जीव है जो स्वस्थ होने पर जीवन में कभी भी बैठता नहीं है। घोड़ा कभी थकता भी नहीं है। इसी वजह से जहां घोड़ा या घोड़े का फोटो भी रहता है तो वहां का वातावरण भी ऊर्जा से भरपूर हो जाता है।

कम्प्यूटर के अतिरिक्त यदि आप ऑफिस में दौड़ते हुए घोड़े का बड़ा फोटो लगाएंगे तो इसके सकारात्मक परिणाम प्राप्त होंगे। आप अपना कार्य पूरी तन्मयता के साथ कर पाएंगे। सफलता आपके कदम चूमेगी।


any body who will try to steal or miss use or blog will be dealt severly acording to law

Jyotishachary Varinder Kumar JI 
Shop No 74 New
Shopping Center Ghumar Mandi
Ludhiana Punjab India

01614656864
09915081311,09872493627

email: sun_astro37@yahoo.com,sun.astro37@gmail.com
wwwsunastrocom.blogspot.com
http://www.sunastro.com/
http://www.facebook.com/profile.php?id=100000371678

Sunday, November 27, 2011

मां वैष्णव दरबार या चित्र के सामने बोलें यह मंत्र..जल्द पूरी होगी मन्नत


महाकाली, महासरस्वती व महालक्ष्मी की त्रिगुणात्मक स्वरूपा साक्षात महाशक्ति हैं - मां वैष्णवी। पौराणिक मान्यताओं में जगतजननी दुर्गा ही दुष्ट प्रवृत्तियों के रूप में फैले कलह व दु:ख के नाश के लिए ही इस स्वरूप में प्रकट हुई और सत्व वृत्तियों व धर्म की रक्षा की। त्रिगुण स्वरूपा होने से मां वैष्णवी की उपासना ज्ञान, शक्ति व ऐश्वर्य देने वाली मानी गई है।

यही कारण है कि मां वैष्णवी का दरबार हो या अन्य कोई स्थान या स्थिति माता के लिए श्रद्धा, स्नेह व आस्था से भक्ति तमाम मुसीबतों से छुटकारा व हर मन्नत को जल्द पूरा करने वाली मानी गई है। धार्मिक आस्था है कि माता को हृदय से पुकारने पर भक्त की झोली मनचाही मुरादों से भर जाती है।

शास्त्र कहते हैं कि प्रेम जब आत्मा से जुड़ता है तो साधना रूपी शक्ति में बदल जाता है। बस, मां वैष्णवी की भक्ति से मिली यही शक्ति जीवन में सुख-संपन्नता लाने वाली मानी गई है। जिसके लिये कुछ विशेष मंत्र का स्मरण माता के दरबार, घर या किसी भी मुश्किल हालात में करें तो शुभ फल मिलते हैं।

जानते हैं माता के स्मरण का ऐसा ही मंत्र और उपासना का सरल उपाय -

- घर में शुक्रवार, नवरात्रि या विशेष देवी उपासना के दिनों में वैष्णवी देवी दरबार में या मां की तस्वीर की, विशेष लाल पूजा सामग्रियां अर्पण कर पूजा करें।

- पूजा में माता की तस्वीर लाल चौकी पर विराजित कर विशेष रूप से लाल चंदन, लाल फूल, लाल अक्षत, लाल चुनरी के साथ दूध, हलवा, चने का प्रसाद अर्पित करें व नीचे लिखे मंत्र से मां वैष्णवी का स्मरण करें -

शंङ्खचक्रगदापद्मधारिणीं दु:खदारिणीम्।

वैष्णवीं गरुडारूढां भक्तानां भयहारिणीम्।।

अनन्यशरणां ज्ञात्वा प्रपद्ये शरणं तव।

त्वदेकशरणं मात: त्राहि मां शरणागताम्।।

- मंत्र स्मरण कर माता के सामने मनचाही मुराद प्रकट करें, दरबार या तस्वीर के सामने मत्था टेकें। धूप-दीप आरती कर बुरे कर्म व विचारों के लिए क्षमा मांगे व ऐसे कामों से दूर रहने का संकल्प लें।


any body who will try to steal or miss use or blog will be dealt severly acording to law

Jyotishachary Varinder Kumar JI 
Shop No 74 New
Shopping Center Ghumar Mandi
Ludhiana Punjab India

01614656864
09915081311,09872493627

email: sun_astro37@yahoo.com,sun.astro37@gmail.com
wwwsunastrocom.blogspot.com
http://www.sunastro.com/
http://www.facebook.com/profile.php?id=100000371678

घर को चोरी और हर दुर्घटना से बचाना है तो ये कमाल के अनोखे उपाय...



अगर आप अपने घर को चोरी और हर तरह की दुर्घटनाओं से बचाना चाहते है तो वास्तु से जुड़े आसान और सस्ते उपाय करें। इन उपायों को करने से आपके घर में कोई भी दुर्घटना नहीं होगी।  ये उपाय शनि देव से भी जुड़े हुए हैं क्योंकि ज्योतिष के अनुसार शनि को चोरी का कारक ग्रह माना जाता है।

- नए मकान की सुरक्षा के लिए महीने में एक बार पहले शुक्रवार को अशोक पेड़ के पत्तों को धागे  से बांध दें  और घर के मेन दरवाजे पर बांध दें। इससे नकारात्मक ऊर्जा का नाश हो जायेगा और मकान में शुभ प्रभाव बढ़ेगा।

- शुक्रवार को काले घोड़े की नाल ले आएं और उसे सरसों के तेल से भरे बर्तन में डूबोकर रख दें। शनिवार के दिन सुबह इस नाल को तेल से निकाल कर कपड़े से पौंछ लें। उसके सामने  तेल का दीपक जलाकर शनिदेव को प्रणाम कर घर से कुप्रभाव दूर करने की प्रार्थना करें और ऊं शं शनये नम: मंत्र बोल कर अब इस नाल को अपने घर के मुख्य द्वार के ऊपर अंग्रजी के यू आकार में इस प्रकार लगा दें। बचे हुए तेल को मकान के ऊपर सात बार घुमा कर पीपल अथवा शमी वृक्ष की जड़ पर चढ़ा दें। ऐसा करने से आपका मकान चोरी और हर तरह की विपदाओं से सुरक्षित रहेगा।


any body who will try to steal or miss use or blog will be dealt severly acording to law

Jyotishachary Varinder Kumar JI 
Shop No 74 New
Shopping Center Ghumar Mandi
Ludhiana Punjab India

01614656864
09915081311,09872493627

email: sun_astro37@yahoo.com,sun.astro37@gmail.com
wwwsunastrocom.blogspot.com
http://www.sunastro.com/
http://www.facebook.com/profile.php?id=100000371678

अनोखा डेकोरेशन: ऐक्सीडेंट से बचना है तो अपने व्हीकल को ऐसे डेकोरेट करे


आज कल रोड ऐक्सीडेंट बहुत हो रहे हैं। इनमें देखा गया है कि ज्यादातर ऐक्सीडेंट सामने वाले की गलती से होते हैं। ऐसे खतरनाक ऐक्सीडेंट से बचने के लिए आपको अपने व्हीकल का डेकोरेशन करना है! आपको आश्चर्य हो रहा होगा कि ये कैेसे हो सकता है लेकिन ये सच है। ये डेकोरेशन ज्योतिष के अनुसार होंगे। जानिए कैसे 

- अपनी बाइक या व्हीकल पर रेडियम से लाल त्रिकोण बनाएं।

- कार में मंगल यंत्र रखें।

- मंगलवार के दिन पेट्रोल, डीजल या गैस न डलवाएं।

- अपने वाहन के आगे सिंदूर से स्वास्तिक बनाएं।

-  अपनी कार या व्हीकल में शिव जी की छोटी मूर्ति रखें।

- हर शनिवार को अपने व्हीकल के आगे हनुमान मंदिर से लच्छा लेकर बांध दें।

- अगर व्हीकल में परदों का उपयोग करना है तो अपनी राशि अनुसार रंग के परदों का उपयोग करें।

- राशि के अनुसार राशि के रंग के सीट कवर भी होते हैं। ऐसे सीट कवर का उपयोग करें।

- आपके व्हीकल का रंग भी राशि के अनुसार ही होना चाहिए। अगर राशि न पता है तो न्यूमरोलॉजी के अनुसार अपने व्हीकल का रंग चुनें।

- अगर व्हीकल पर कोई डिजाइन बनाना है तो अपनी बर्थ डेट को जोड़े और जो नंबर आए उससे संबंधित डिजाइन बनवाएं।

- अपना गाड़ी नंबर भी न्यूमेरोलॉजी के अनुसार चुनें।

any body who will try to steal or miss use or blog will be dealt severly acording to law

Jyotishachary Varinder Kumar JI 
Shop No 74 New
Shopping Center Ghumar Mandi
Ludhiana Punjab India

01614656864
09915081311,09872493627

email: sun_astro37@yahoo.com,sun.astro37@gmail.com
wwwsunastrocom.blogspot.com
http://www.sunastro.com/
http://www.facebook.com/profile.php?id=100000371678

अजब-गजब गणित, लेकिन मालामाल हो जाते हैं इससे, कर के देखें


ये एक अनोखा गणित है, इसमें आपको अपनी पूरी डेट ऑफ बर्थ को जोडऩा है। जिसमें तारीख के साथ महीना और साल भी हो। डेट ऑफ बर्थ जोड़ कर आपको एक नंबर मिलेगा जो आपको मालामाल बना देगा। जानिए कैसे, डेट ऑफ बर्थ जोड़ कर आपको जो नंबर मिलेगा वो आपका लकी नंबर होगा। जो भी लकी नंबर आए उसके अनुसार अपने पास लकी चार्म या चीज रखें जो आपको पैसा ही पैसा देगी।

अंक 1- जिनकी डेट ऑफ बर्थ का अंक एक है वो लोग सफेद रेशमी चौकोर कपड़े पर अपने भाग्यांक का नंबर 1 लिख कर रविवार सुबह के समय अपने पास या पर्स में रखें।

अंक 2- जिनका अंक दो है वो सोमवार की रात को अपने पास नीले रंग के रेशमी कपड़े में सफेद रंग के चमकीले सितारे लगवा कर रखें। ऐसा करने से कभी पैसों की कमी नही होगी।

अंक 3- तीन अंक वालों को गुरूवार सुबह के समय अपने पर्स में पीले रंग के रेशमी कपडे में चांदी का चौकोर टुकड़ा रखना चाहिए।

अंक 4- चार नंबर वालों को पर्स में भूरे रंग के रेशमी कपड़े में काली मिर्च बाँध कर रखना चाहिए इसके रखने से अंक चार वालों का पर्स पैसों से भरा रहेगा। इसे शनिवार शाम के समय रखें।

अंक 5- जिन लोगों का नंबर 5 है वो लोग बुधवार को दोपहर में हरे रंग के रेशमी कपड़े में एक ताम्बे का छेद वाला सिक्का लपेट कर हरे रंग के धागे से अपने हाथ पर बाँध लें या पर्स में रख दें।

अंक 6- अगर आपका अंक छ: है तो आप शुक्रवार को सुबह अपने पर्स में गुलाबी रंग के रेशमी कपड़े में सफेद रंग से 6 अंक लिख के कोई भी सफेद मिठाई खा लें तो आपको पैसों से संबंधित परेशानियां नही होगी।

अंक 7- सात अंक वाले गुरुवार के दिन सुबह अपने पर्स में सुनहरी रंग के कपड़े में पीली सरसों बांध कर रखें ।

अंक 8- जिनका अंक आठ है वो शनिवार को सुबह पर्स में पीले रंग के कपड़े में अखंडित चावल के 21 दाने बाँध कर रखें तो पैसों से संबंधित रुकावटें दूर होने लगेगी।

अंक 9- मंगलवार शाम को पर्स में लाल रंग का रेशमी कपड़ा रखने से इस अंक वालों का पर्स हमेशा भरा रहेगा।

any body who will try to steal or miss use or blog will be dealt severly acording to law

Jyotishachary Varinder Kumar JI 
Shop No 74 New
Shopping Center Ghumar Mandi
Ludhiana Punjab India

01614656864
09915081311,09872493627

email: sun_astro37@yahoo.com,sun.astro37@gmail.com
wwwsunastrocom.blogspot.com
http://www.sunastro.com/
http://www.facebook.com/profile.php?id=100000371678

सुबह-शाम बोलें बस, ये 21 सूर्य नाम मंत्र..बनेंगे सेहतमंद व दौलतमंद


शास्त्रों में अच्छा स्वास्थ्य भी धन के समान माना गया है। दरअसल, निरोगी काया ही विचार और कर्म से सक्रिय बनाए रख जीवन के अहम लक्ष्यों को हासिल करने में निर्णायक होती है। शास्त्रों के नजरिए से जीवन के ये लक्ष्य धर्म, अर्थ, काम व मोक्ष के रूप में जाने जाते हैं। जिनमें सांसारिक कर्तव्यों को पूरा करने में अर्थ की भूमिका बहुत अहम मानी गई है।

बेहतर स्वास्थ्य व धन संपन्नता की कामना को पूरा करने के लिए हिन्दू धर्म में सूर्य उपासना का महत्व बताया गया है। सूर्य साक्षात् देवता भी माने गए हैं। जिनकी उपासना रविवार, संक्राति, उत्तरायन व दक्षिणायन व सप्तमी तिथि को विशेष कामनासिद्धि करने वाली होती हैं।

इन शुभ घडिय़ों के साथ ही हर रोज सूर्य पूजा के लिए शास्त्रों में एक बेहद आसान उपाय बताया गया है। जिसमें सूर्यादय व सूर्यास्त के वक्त सूर्य के मात्र 21 नाम मंत्रों का स्मरण  निरोगी जीवन, वैभव, यश देने के साथ मन, वचन व कर्म के सभी पापों का नाश करने वाले माने गए हैं।

पौराणिक मान्यता है कि ये 21 नाम सूर्यदेव को बहुत प्रिय हैं और उनके ही द्वारा स्वास्थ्य, धन व सुखी जीवन की कामनासिद्धि के लिये ये 21 नाम मंत्र उजागर किए गए। जिनका ध्यान सूर्य के हजारों नामों के स्मरण का ही फल देता है।

- सुबह-शाम सूर्योदय या सूर्यास्त के पहले तीर्थ में या तीर्थ जल से स्नान के बाद सफेद वस्त्र पहन सूर्यदेव की ओर मुख कर जल भरे कलश में लाल चंदन, फूल व अक्षत डालकर 'ऊँ खखोल्काय नम:' इस मंत्र के साथ सूर्य अर्घ्य देने के  बाद नीचे लिखे 21 सूर्य नाम मंत्र का प्रणाम करते हुए स्मरण करें -

वैकर्तनो विवस्वांश्र्च मार्तण्डो भास्करो रवि:।

लोकप्रकाशक: श्रीमांल्लोकचक्षुर्ग्रहेश्वर।।

लोकसाक्षी त्रिलोकेश: कर्ता हर्ता तमिस्त्रहा।

तपनस्तापनश्र्चैव शुचि: सप्ताश्र्ववाहन:।।

गभस्तिहस्तो ब्रह्मा च सर्वदेवनमस्कृत:।

सरल अर्थ मे ये 21 नाम हैं -

विकर्तन, विवस्वान, मार्तण्ड, भास्कर, रवि, लोकप्रकाशक, श्रीमान, लोकचक्षु, ग्रहेश्वर, लोकसाक्षी, त्रिलोकेश, कर्ता, हर्ता, तमिस्त्रहा, तपन, तापन, शुचि, सप्ताश्र्चवाहन, गभस्तिहस्त, ब्रह्मा और सर्वदेवनमस्कृत।


any body who will try to steal or miss use or blog will be dealt severly acording to law

Jyotishachary Varinder Kumar JI 
Shop No 74 New
Shopping Center Ghumar Mandi
Ludhiana Punjab India

01614656864
09915081311,09872493627

email: sun_astro37@yahoo.com,sun.astro37@gmail.com
wwwsunastrocom.blogspot.com
http://www.sunastro.com/
http://www.facebook.com/profile.php?id=100000371678

विनायकी चतुर्थी व्रत 28 को, श्रीगणेश को प्रसन्न करें ऐसी पूजा से


भगवान गणेश सभी दु:खों को हरने वाले हैं। इनकी कृपा से असंभव कार्य भी संभव हो जाते हैं। भगवान गणेश को प्रसन्न करने के लिए प्रत्येक शुक्ल पक्ष की चतुर्थी को भगवान गणेश के निमित्त व्रत किया जाता है, इसे विनायकी चतुर्थी व्रत कहते हैं। इस बार यह व्रत 28 नवंबर, सोमवार को है। विनायकी चतुर्थी का व्रत इस प्रकार करें-

- सुबह जल्दी उठकर स्नान आदि नित्य कर्म से शीघ्र ही निवृत्त हों।

- दोपहर के समय अपने सामथ्र्य के अनुसार सोने, चांदी, तांबे, पीतल या मिट्टी से बनी भगवान गणेश की प्रतिमा स्थापित करें।

- संकल्प मंत्र के बाद श्रीगणेश की षोड़शोपचार पूजन-आरती करें। गणेशजी की मूर्ति पर सिंदूर चढ़ाएं। गणेश मंत्र (ऊँ गं गणपतयै नम:) बोलते हुए 21 दुर्वा दल चढ़ाएं।

- गुड़ या बूंदी के 21 लड्डूओं का भोग लगाएं। इनमें से 5 लड्डू मूर्ति के पास चढ़ाएं और 5 ब्राह्मण को दान कर दें। शेष लड्डू प्रसाद के रूप में बांट दें।

- पूजा में भगवान श्री गणेश स्त्रोत, अथर्वशीर्ष, संकटनाशक स्त्रोत आदि का पाठ करें।

-ब्राह्मण भोजन कराएं और उन्हें दक्षिणा प्रदान करने के पश्चात् संध्या के समय स्वयं भोजन ग्रहण करें। संभव हो तो उपवास करें।

व्रत का आस्था और श्रद्धा से पालन करने पर श्री गणेश की कृपा से मनोरथ पूरे होते हैं और जीवन में निरंतर सफलता प्राप्त होती है।

any body who will try to steal or miss use or blog will be dealt severly acording to law

Jyotishachary Varinder Kumar JI 
Shop No 74 New
Shopping Center Ghumar Mandi
Ludhiana Punjab India

01614656864
09915081311,09872493627

email: sun_astro37@yahoo.com,sun.astro37@gmail.com
wwwsunastrocom.blogspot.com
http://www.sunastro.com/
http://www.facebook.com/profile.php?id=100000371678

लगातार हो रही है धनहानि तो करें यह उपाय


लगातार धन हानि होना, व्यापार में नुकसान होना, महंगी चीजों का खराब होना या खोना, यह एक तरह का संकेत हैं कि आपके साथ कुछ न कुछ गलत हो रहा है। या तो आपका समय गलत चल रहा है या आपके घर पर किसी ने तंत्र क्रिया की है। मगर इन सबसे घबराने की कोई जरुरत नहीं है क्योंकि नीचे लिखा उपाय करने से आपकी यह समस्या कुछ ही दिनों में समाप्त हो जाएगी।

उपाय

सोमवार के दिन 11 गोमती चक्रों को मुख्य द्वार पर रख दें। जब भोजन बनने के बाद अग्नि बंद करने का समय आए तो गोमती चक्रों पर एक कंडा जलाकर उसकी राख बना लें। अगले दिन उस राख को पानी में मिलाकर सारे घर में पोंछा लगाएं और गोमती चक्र को दक्षिण दिशा में फेंक दें। इस उपाय से धनहानि नहीं होगी धनागमन के रास्ते खुल जाएंगे।

any body who will try to steal or miss use or blog will be dealt severly acording to law

Jyotishachary Varinder Kumar JI 
Shop No 74 New
Shopping Center Ghumar Mandi
Ludhiana Punjab India

01614656864
09915081311,09872493627

email: sun_astro37@yahoo.com,sun.astro37@gmail.com
wwwsunastrocom.blogspot.com
http://www.sunastro.com/
http://www.facebook.com/profile.php?id=100000371678

बेबसी में इस मंत्र से कर लें शिव का ध्यान..न रहेंगे मजबूर, न मोहताज


शास्त्रों के मुताबिक शिव भक्ति संकल्प और इच्छाशक्ति को मजबूत करने वाली होती है। शिव का मतलब परमानंद भी है, वहीं उनका स्वरूप सौम्य व सरल। इसलिए धार्मिक आस्था है कि अगर शुद्ध व सरल भावों के साथ किसी भी स्थिति में शिव स्मरण किया जाए तो न केवल फल मनचाहा व शीघ्र मिलता है, बल्कि हर विवशता, कष्ट या कलह का अंत निश्चित हो जाता है।

शिव स्मरण से जीवन से सारी मानसिक, आर्थिक या शारीरिक दु:ख व परेशानियों से छुटकारा पाने के लिए यहां बताया जा रहा पुराणोक्त शिव मंत्र बहुत ही असरदार माना गया है।

यथासंभव इस मंत्र का ध्यान शिवलिंग की कम से कम जल या बिल्वपत्र अर्पित कर करें। किंतु इस मंत्र की खासियत यह है कि बिना बाहरी पूजा सामग्रियों के चढ़ावे के भी यह बहुत ही मंगलकारी है। क्योंकि इसके द्वारा हर भक्त मन, प्राण, इन्द्रियों और कर्म को ही पूजा सामग्री के रूप में शिव को समर्पित करता है। इसलिए बिना शिवालय जाए या किसी असक्तता में भी इस मंत्र मात्र से अद्भुत भक्ति आशुतोष शिव को जल्द प्रसन्न करती है। सोमवार या शिव उपासना के विशेष अवसरों पर इस मंत्र का स्मरण न चूकें। जानते हैं यह अनूठा पौराणिक शिव मंत्र व अर्थ -

पुष्पाणि सन्तु तव देव ममेन्द्रियाणि।

धूपोगरुर्वपुरिदं हृदयं प्रदीप:।।

प्राणा हवीषि करणानि तवाक्षताश्च।

पूजाफलं व्रततु साम्प्रतमेष जीव:।।

सरल शब्दों में अर्थ है - हे महादेव, आपकी पूजा के लिए मेरी इन्द्रियां फूल बन जाएं। मेरा शरीर सुगन्धित धूप और अगरु बन जाए। मेरा हृदय दीप हो जाए, मेरी जीवनशक्ति यानी प्राण हविष और सारी कर्मेन्द्रियां अक्षत बन जाएं। इस तरह मैं आपकी उपासना करता हुआ पूजा का फल प्राप्त करूं।

any body who will try to steal or miss use or blog will be dealt severly acording to law

Jyotishachary Varinder Kumar JI 
Shop No 74 New
Shopping Center Ghumar Mandi
Ludhiana Punjab India

01614656864
09915081311,09872493627

email: sun_astro37@yahoo.com,sun.astro37@gmail.com
wwwsunastrocom.blogspot.com
http://www.sunastro.com/
http://www.facebook.com/profile.php?id=100000371678

Saturday, November 26, 2011

26-11-11 : आज का पंचांग, ग्रह स्थिति और यात्रा की शुभ दिशा


जानिए: आज का पंचांग, किस दिशा में यात्रा करें? चोरी गई वस्तु कहां मिलेगी? आज कौन सा ग्रह, किस राशि में है?
26 नवंबर 2011: शनिवार, सूर्य दक्षिणायन, अगहन मास, शुक्ल पक्ष, शोभन नाम संवत्सर, संवत् 2068, शरद ऋतु।

तिथि - प्रतिपदा

नक्षत्र - ज्येष्ठा

सूर्योदय - 05:55

सूर्यास्त - 07:10

अक्षांश - 23:11 उत्तर

देशांश - 75:43 पूर्व

ग्रह स्थिति - चंद्र वृश्चिक में रात 1.30 से धनु में, सूर्य वृश्चिक में, मंगल कर्क में, बुध कन्या में, गुरू मेष में, शुक्र धनु में, शनि तुला में, राहु वृश्चिक में और केतु वृष राशि में स्थित है।

किस दिशा में यात्रा - पूर्व दिशा, यदि आवश्यक हो तो तिल दाल का सेवन करके यात्रा करें।

किस दिशा में चोरी - पश्चिम दिशा में चोरी गई समझें, नहीं मिलेगी।


any body who will try to steal or miss use or blog will be dealt severly acording to law

Jyotishachary Varinder Kumar JI 
Shop No 74 New
Shopping Center Ghumar Mandi
Ludhiana Punjab India

01614656864
09915081311,09872493627

email: sun_astro37@yahoo.com,sun.astro37@gmail.com
wwwsunastrocom.blogspot.com
http://www.sunastro.com/
http://www.facebook.com/profile.php?id=100000371678

Thursday, November 24, 2011

25-11-11 : आज का पंचांग, ग्रह स्थिति और यात्रा की शुभ दिशा




जानिए: आज का पंचांग, किस दिशा में यात्रा करें? चोरी गई वस्तु कहां मिलेगी? आज कौन सा ग्रह, किस राशि में है?


25 नवंबर 2011: शुक्रवार, सूर्य दक्षिणायन, अगहन मास, कृष्ण पक्ष, शोभन नाम संवत्सर, संवत् 2068, शरद ऋतु।

तिथि - अमावस्या

विशेष - स्नान व दान अमावस्या

नक्षत्र - अनुराधा

सूर्योदय - 05:55

सूर्यास्त - 07:10

अक्षांश - 23:11 उत्तर

देशांश - 75:43 पूर्व

ग्रह स्थिति - चंद्र वृश्चिक में, सूर्य वृश्चिक में, मंगल कर्क में, बुध कन्या में, गुरू मेष में, शुक्र धनु में, शनि तुला में, राहु वृश्चिक में और केतु वृष राशि में स्थित है।

किस दिशा में यात्रा - पश्चिम दिशा, यदि आवश्यक हो तो उड़द की दाल का सेवन करके यात्रा करें।

किस दिशा में चोरी - पूर्व दिशा में चोरी गई समझें, जल्द ही मिलेगी।


any body who will try to steal or miss use or blog will be dealt severly acording to law

Jyotishachary Varinder Kumar JI 
Shop No 74 New
Shopping Center Ghumar Mandi
Ludhiana Punjab India

01614656864
09915081311,09872493627

email: sun_astro37@yahoo.com,sun.astro37@gmail.com
wwwsunastrocom.blogspot.com
http://www.sunastro.com/
http://www.facebook.com/profile.php?id=100000371678

शुक्रवार-अमावस्या के संयोग में इस मंत्र से लक्ष्मी पूजा देगी धन लाभ




हिन्दू शास्त्रों के मुताबिक शुक्रवार धन व ऐश्वर्य की अधिष्ठात्री महालक्ष्मी की उपासना से सुख-समृद्ध जीवन की कामनासिद्धि का विशेष दिन है। इसी तरह अमावस्या पर देवी पूजा अज्ञान, कलह और दरिद्रता रूपी अंधकार को मिटाने की शुभ घड़ी भी मानी जाती है। जिसके लिए माता लक्ष्मी की उपासना का विशेष महत्व है। देवी लक्ष्मी वैभव की अधिष्ठात्री हैं। उनके समुद्र मंथन से प्राकट्य की तिथि अमावस्या ही मानी गई है।

यही कारण है आज देवी उपासना के दिन शुक्रवार व अमावस्या का संयोग वैभव संपन्नता की कामना के लिए भी शुभ व अचूक काल है।

अगर आप भी जीवन में धन की परेशानियों का सामना कर रहे हैं, नौकरी या व्यवसाय में मनचाहा धनलाभ प्राप्त नहीं कर पा रहे, पारिवार में अनचाहे खर्चों से आर्थिक तंगी से जूझ रहे हों या जल्द व अधिक धन कमाने की इच्छा रखते हैं तो यहां बताए जा रहे देवी लक्ष्मी की विशेष मंत्र से उपासना के आसान उपाय को अपनाकर लक्ष्मी कृपा पा सकते हैं -

- शुक्रवार की शाम स्नान के बाद एक चौकी पर लाल वस्त्र बिछाकर देवी लक्ष्मी की यथासंभव चांदी की प्रतिमा को स्थापित करें।

- लक्ष्मी की प्रतिमा को गाय के कच्चे दूध व गंगाजल से स्नान कराएं।

- स्नान के बाद देवी लक्ष्मी को लाल चंदन, लाल अक्षत, फूल, वस्त्र व दूध से बने पकवानों का भोग लगाकर श्रीसूक्त के नीचे लिखे लक्ष्मी मंत्र का स्मरण कर भरपूर आर्थिक समृद्धि की कामना करें।

मनस: काममाकूतिं वाच: सत्यमशीमहि।

पशूनां रूप मन्नस्य मयि श्री: श्रयतां यश:।।

- इस मंत्र के अलावा जानकारी होने पर श्रीसूक्त का पूरा पाठ अवश्य करें। देवी लक्ष्मी की आरती धूप व घी के दीप से करें। मन, वचन व शब्दों से पाप की क्षमा मांगे।

- एक दीप प्रज्जवलित कर लक्ष्मी को आमंत्रण की भावना से घर के मुख्य द्वार पर रखें।

- शास्त्रों में हिन्दू पंचांग के वर्तमान में जारी अगहन माह के हर गुरुवार को भी लक्ष्मी पूजा धन व सुख संपन्न बनाने वाली मानी गई है।




any body who will try to steal or miss use or blog will be dealt severly acording to law

Jyotishachary Varinder Kumar JI 
Shop No 74 New
Shopping Center Ghumar Mandi
Ludhiana Punjab India

01614656864
09915081311,09872493627

email: sun_astro37@yahoo.com,sun.astro37@gmail.com
wwwsunastrocom.blogspot.com
http://www.sunastro.com/
http://www.facebook.com/profile.php?id=100000371678

क्या आप अस्थमा पेशेंट हैं तो यह करके भी देखें



सांस की बीमारी (दमा या अस्थमा) एक आम रोग है। वर्तमान समय में अधिकांश लोग इससे पीडि़त हैं। आमतौर पर यह रोग अनुवांशिक होता है तो कुछ लोगों को मौसम के कारण हो जाता है। इसके कारण रोगी कोई भी काम ठीक से नहीं कर पाते और जल्दी थक जाते हैं। मेडिकल साइंस द्वारा इस रोग का संपूर्ण उपचार संभव है। साथ ही यदि नीचे लिखे उपायों को भी किया जाए तो इस रोग में जल्दी आराम मिलता है। 

1- शुक्ल पक्ष के प्रथम सोमवार से लगातार तीन सोमवार तक एक सफेद रूमाल में मिश्री एवं चांदी का एक चौकोर टुकड़ा बांधकर बहते जल में प्रवाहित करें तथा शिवजी को चावल के आटे का दीपक कपूर मिश्रित घी के साथ अर्पित करें। श्वास रोग दूर हो जाएंगे।

2- रविवार को एक बर्तन में जल भरकर उसमें चांदी की अंगूठी डालकर सोमवार को खाली पेट उस जल का सेवन करें। दमा रोग दूर हो जाएगा।

3- किसी भी मास के प्रथम सोमवार को विधि-विधानपूर्वक चमेली की जड़ को अभिमंत्रित करके सफेद रेशमी धागे में बांधकर गले में धारण करें और प्रत्येक सोमवार को बार-बार आइने में अपना चेहरा देंखे। सांस की सभी बीमारियां दूर हो जाएंगी।

4- सांस की नली में सूजन, सांस लेने में तकलीफ, फेफड़ों में सूजन के कारण कफ जमने अथवा खांसी से मुक्ति पाने के लिए किसी शुभ समय में केसर की स्याही और तुलसी की कलम द्वारा भोजपत्र पर चंद्र यंत्र का निर्माण करवाकर गले में धारण करें। श्वास संबंधी सभी रोग दूर हो जाएंगे।




any body who will try to steal or miss use or blog will be dealt severly acording to law

Jyotishachary Varinder Kumar JI 
Shop No 74 New
Shopping Center Ghumar Mandi
Ludhiana Punjab India

01614656864
09915081311,09872493627

email: sun_astro37@yahoo.com,sun.astro37@gmail.com
wwwsunastrocom.blogspot.com
http://www.sunastro.com/
http://www.facebook.com/profile.php?id=100000371678

Wednesday, November 23, 2011

सास बहु की खटपट से बचने केलिए





हर घर में होती  है सास-बहु के बीच खटपट I इससे बचना  चाहते है तो इन दोनों का प्रेम प्रदर्शित करता प्रसन्न मुद्रा में खिचवाया गया फोटो घर  के दक्षिण-पश्चिम में लगाएं I  यह बेहद प्रभावकारी फेंगशुई उपाय   है I इसी दिशा में घर के सभी सदस्यों का मुस्कराती मुद्रा में खिंचवाया गया फोटो लगाने से आपसी प्रेम बढता है



any body who will try to steal or miss use or blog will be dealt severly acording to law

Jyotishachary Varinder Kumar JI 
Shop No 74 New
Shopping Center Ghumar Mandi
Ludhiana Punjab India

01614656864
09915081311,09872493627

email: sun_astro37@yahoo.com,sun.astro37@gmail.com
wwwsunastrocom.blogspot.com
http://www.sunastro.com/
http://www.facebook.com/profile.php?id=100000371678

Tuesday, November 22, 2011

यहां चढ़ाएं मसूर की दाल, मिलेगी कर्ज से मुक्ति




वर्तमान समय में कर्ज यानी लोन लेना बुरा नहीं माना जाता। व्यक्ति अपने जीवन की दैनिक जरुरतों के लिए भी कई बार कर्ज ले लेता है लेकिन परेशानी तब शुरु होती है जब कर्ज चुकाने का समय आता है। कई बार कर्ज के रूप में लिए गए रुपयों से कई गुना धन चुकाने के बाद भी कर्ज पूरा नहीं हो पाता। अगर आपके साथ भी यही परेशानी है तो यह उपाय करें-

उपाय

भगवान शंकर सभी की मनोकामना पूर्ण करते हैं। कर्ज से मुक्ति के लिए प्रति मंगलवार को किसी शिव मंदिर में जाकर शिवलिंग पर मसूर की दाल(यथाशक्ति) चढ़ाएं साथ ही यह मंत्र भी बोलें- ऊँ ऋणमुक्तेश्वराय नम:। कम से कम 5 माला जप अवश्य करें। मंत्र जप के लिए रुद्राक्ष की माला का उपयोग करें। कुछ ही दिनों में कर्ज संबंधी आपकी समस्या का निराकरण हो जाएगा।


any body who will try to steal or miss use or blog will be dealt severly acording to law

Jyotishachary Varinder Kumar JI 
Shop No 74 New
Shopping Center Ghumar Mandi
Ludhiana Punjab India

01614656864
09915081311,09872493627

email: sun_astro37@yahoo.com,sun.astro37@gmail.com
wwwsunastrocom.blogspot.com
http://www.sunastro.com/
http://www.facebook.com/profile.php?id=100000371678

घर के मंदिर में भगवान की कितनी मूर्तियां रखनी चाहिए?




हमारे जीवन की हर एक समस्या का निवारण मात्र भगवान की प्रार्थना से ही संभव है। कर्मों के साथ ही भगवान की कृपा प्राप्त होने पर मुश्किल कार्य भी आसानी से पूर्ण हो जाता है। सुख-शांति बनी रहे इसके लिए सभी के घरों में भगवान का एक मंदिर अवश्य ही रहता है। घर के मंदिर में कौन से भगवान की कितनी प्रतिमाएं रखनी चाहिए? इस संबंध में शास्त्रों में आवश्यक निर्देश दिए गए हैं।

सभी के घरों में भगवान के लिए भी यथाशक्ति अलग घर या मंदिर अवश्य होता है। मंदिर में अपने इष्ट देव की मूर्ति, तस्वीर, पूजा का अन्य सामान रखा जाता है। भगवान की मूर्तियों की संख्या के संबंध में ये विशेष बातें शास्त्रों में बताई गई हैं-

- घर के मंदिर में श्रीगणेश की 3 प्रतिमाएं नहीं होना चाहिए। गणपति की मूर्ति होना जरूरी है लेकिन इनकी मूर्तियों की संख्या 3 नहीं होना चाहिए। गणेशजी की मूर्तियों की संख्या 3 अशुभ मानी जाती है।

- मंदिर में दो शिवलिंग नहीं होना चाहिए तथा शिवलिंग अंगूठे के आकार का होना चाहिए। घर के मंदिर में एक ही शिवलिंग रखना श्रेष्ठ फल देता है। एक से अधिक शिवलिंग रखना शास्त्रों के अनुसार वर्जित है।

- किसी भी देवी या माताजी की 3 प्रतिमाएं नहीं रखें। इनकी संख्या भी 3 नहीं होना चाहिए।



any body who will try to steal or miss use or blog will be dealt severly acording to law

Jyotishachary Varinder Kumar JI 
Shop No 74 New
Shopping Center Ghumar Mandi
Ludhiana Punjab India

01614656864
09915081311,09872493627

email: sun_astro37@yahoo.com,sun.astro37@gmail.com
wwwsunastrocom.blogspot.com
http://www.sunastro.com/
http://www.facebook.com/profile.php?id=100000371678

23-11-11 : आज का पंचांग, ग्रह स्थिति और यात्रा की शुभ दिशा



जानिए: आज का पंचांग, किस दिशा में यात्रा करें? चोरी गई वस्तु कहां मिलेगी? आज कौन सा ग्रह, किस राशि में है?



23 नवंबर 2011: बुधवार, सूर्य दक्षिणायन, अगहन मास, कृष्ण पक्ष, शोभन नाम संवत्सर, संवत् 2068, शरद ऋतु।

तिथि - त्रयोदशी

नक्षत्र - चित्रा सुबह 6.58 से स्वाति

सूर्योदय - 05:55

सूर्यास्त - 07:10

अक्षांश - 23:11 उत्तर

देशांश - 75:43 पूर्व

ग्रह स्थिति - चंद्र तुला में, सूर्य वृश्चिक में, मंगल कर्क में, बुध कन्या में, गुरू मेष में, शुक्र धनु में, शनि तुला में, राहु वृश्चिक में और केतु वृष राशि में स्थित है।

किस दिशा में यात्रा - उत्तर दिशा, यदि आवश्यक हो तो मिश्री का सेवन करके यात्रा करें।

किस दिशा में चोरी - पूर्व दिशा में चोरी गई समझें, जल्द ही मिलेगी।


any body who will try to steal or miss use or blog will be dealt severly acording to law

Jyotishachary Varinder Kumar JI 
Shop No 74 New
Shopping Center Ghumar Mandi
Ludhiana Punjab India

01614656864
09915081311,09872493627

email: sun_astro37@yahoo.com,sun.astro37@gmail.com
wwwsunastrocom.blogspot.com
http://www.sunastro.com/
http://www.facebook.com/profile.php?id=100000371678



 

खराब घड़ियों को घर में ना रखें







समय देखने का एकमात्र साधन केवल घडी ही है यदि घडी ही ख़राब हो जए तो समय देखना मुश्किल है ख़राब व बंद घड़िया हमारे बुरे भाग्य व खराब वकत की सूचक है अत जीतनी जल्दी हो इन खराब खाड़ियो से अपने भानात्मक  मोह को त्याग कर या तो फेंक दें या फिर मरमत करके चालू करवा लें बंद पड़ी घड़िया घर में कदापि ना रखें

any body who will try to steal or miss use or blog will be dealt severly acording to law

Jyotishachary Varinder Kumar JI 
Shop No 74 New
Shopping Center Ghumar Mandi
Ludhiana Punjab India

01614656864
09915081311,09872493627

email: sun_astro37@yahoo.com,sun.astro37@gmail.com
wwwsunastrocom.blogspot.com
http://www.sunastro.com/
http://www.facebook.com/profile.php?id=100000371678

Sunday, November 20, 2011

मोटापा कम करने के लिए पहनें ये अंगूठी, क्योंकि...


आज के समय में सर्वाधिक लोगों की समस्या है मोटापा। असंतुलित खान-पान और अनियमित दिनचर्या के चलते अत्यधिक वजन बढऩे की शिकायत आम बात हो गई है। समय पर ध्यान न दिया जाए तो यह बीमारी काफी बढ़ जाती है। तब इससे मुक्ति पाना बहुत मुश्किल हो जाता है।

कई लोग मोटापे से मुक्ति के लिए डॉक्टर्स आदि के क्लिनिक में चक्कर लगाने के बाद भी सकारात्मक परिणाम प्राप्त नहीं कर पाते हैं। इस समस्या से निजात पाने का ज्योतिष में सटीक और कारगर उपाय बताया जाता है। ज्योतिष के अनुसार मोटापे की समस्या ग्रह दोष से भी संबंधित होती है।

जो व्यक्ति मोटापे से मुक्ति चाहता है उसे अनामिका अंगुली (रिंग फिंगर) में रांगे की अंगूठी पहनें। अंगूठी पहनने के लिए सर्वश्रेष्ठ दिन रविवार है। किसी भी रविवार के दिन थोड़ा सा काला धागा अपनी अनामिका अंगुली पर लपेट लें। इसके बाद रांगे की धातु से बनी अंगूठी को पहन लें। अंगूठी इस प्रकार पहनें कि वह काला धागा दिखाई न दें।

यह प्रयोग काफी कारगर है। इस प्रकार रांगे की अंगूठी पहनने के साथ मोटापे की समस्या से जल्दी ही मुक्ति मिलेगी। इसके साथ ही डॉक्टर्स आदि द्वारा बताई गई टिप्स का भी पालन करें। अपनी दिनचर्या नियमित करें और खान-पान में विशेष ध्यान रखें। अत्यधिक वसा वाली खाना ना खाएं। व्यायाम करें। जल्द ही मोटापे निजात मिलेगी।

any body who will try to steal or miss use or blog will be dealt severly acording to law

Jyotishachary Varinder Kumar JI 
Shop No 74 New
Shopping Center Ghumar Mandi
Ludhiana Punjab India

01614656864
09915081311,09872493627

email: sun_astro37@yahoo.com,sun.astro37@gmail.com
wwwsunastrocom.blogspot.com
http://www.sunastro.com/
http://www.facebook.com/profile.php?id=100000371678

21-11-11 : आज का पंचांग, ग्रह स्थिति और यात्रा की शुभ दिशा


जानिए: आज का पंचांग, किस दिशा में यात्रा करें? चोरी गई वस्तु कहां मिलेगी? आज कौन सा ग्रह, किस राशि में है?

21 नवंबर 2011: सोमवार, सूर्य दक्षिणायन, अगहन मास, कृष्ण पक्ष, शोभन नाम संवत्सर, संवत् 2068, शरद ऋतु।

तिथि - एकादशी

विशेष - उत्पन्ना एकादशी

नक्षत्र - उत्तरा फाल्गुनी दिन के 10.12 बजे से हस्त

सूर्योदय - 05:55

सूर्यास्त - 07:10

अक्षांश - 23:11 उत्तर

देशांश - 75:43 पूर्व

ग्रह स्थिति - चंद्र कन्या में, सूर्य वृश्चिक में, मंगल कर्क में, बुध कन्या में, गुरू मेष में, शुक्र वृश्चिक में, शनि तुला में, राहु वृश्चिक में और केतु वृष राशि में स्थित है।

किस दिशा में यात्रा - पूर्व दिशा, यदि आवश्यक हो तो दूध का सेवन करके यात्रा करें।

किस दिशा में चोरी - पूर्व दिशा में चोरी गई समझें, जल्द ही मिलेगी।

any body who will try to steal or miss use or blog will be dealt severly acording to law

Jyotishachary Varinder Kumar JI 
Shop No 74 New
Shopping Center Ghumar Mandi
Ludhiana Punjab India

01614656864
09915081311,09872493627

email: sun_astro37@yahoo.com,sun.astro37@gmail.com
wwwsunastrocom.blogspot.com
http://www.sunastro.com/
http://www.facebook.com/profile.php?id=100000371678

Saturday, November 19, 2011

घर से निकलते ही ये लोग दिख जाएं तो समझ लें, चमक जाएगी आपकी किस्मत


हिंदू धर्म शास्त्रों में कई ऐसे संकेत बनाए गए हैं जिनसे आप अंदाजा लगा सकते हैं कि आपको मनोवांछित कार्य में सफलता मिलेगी या नहीं। इन संकेतों को शकुन-अपशकुन कहा जाता है।

शास्त्रों के अनुसार आप जब भी किसी खास कार्य के लिए जा रहे होते हैं ठीक उसी समय कई प्रकार की घटनाएं घटती हैं। इन पर ध्यान दिया जाना चाहिए। छोटी-छोटी शुभ-अशुभ घटनाएं ही शकुन या अपशकुन होती हैं। हालांकि काफी लोग इन बातों को कोरा अंधविश्वास ही मानते हैं लेकिन कई लोग इन बातों पर विश्वास भी करते हैं।

यदि आप काफी खास कार्य के लिए जा रहे हैं तो घर से निकलते ही आपको कोई ब्राह्मण दिख जाए तो समझना चाहिए कि आप कार्य बिना किसी परेशानी के सफल हो जाएगा। ब्राह्मण परंपरागत वेशभूषा में होना चाहिए।

कहीं जाते समय किसी पतिव्रता सुहागन स्त्री को लाल साड़ी में देखना भी काफी शुभ माना जाता है। इसका भी यही संकेत है आपके कार्य सफल होंगे और दिन अच्छा बितेगा।

घर से निकलते ही कोई सफाईकर्मी दिख जाए तो समझो आपका दिन बहुत अच्छा बितेगा और धन, ऐश्वर्य, मान-सम्मान भी मिलेगा। 

any body who will try to steal or miss use or blog will be dealt severly acording to law

Jyotishachary Varinder Kumar JI 
Shop No 74 New
Shopping Center Ghumar Mandi
Ludhiana Punjab India

01614656864
09915081311,09872493627

email: sun_astro37@yahoo.com,sun.astro37@gmail.com
wwwsunastrocom.blogspot.com
http://www.sunastro.com/
http://www.facebook.com/profile.php?id=100000371678

करें सूर्य पूजा के ये 5 आसान उपाय..मिलेगा मनचाहा काम, पैसा व नाम


शास्त्रों में जीवन में कर्म और धन को यश-प्रतिष्ठा पाने के लिए बेहद अहम माना गया है। कर्म की मजबूत इच्छाशक्ति या संकल्प से ही तमाम वैभव खिंचे चले आते हैं। वैसे भी लक्ष्मी ठहराव नहीं गति को पसंद करती है। सरल शब्दों में समझें तो काम ही कमाई का जरिया बन जीवन के हर मकसद को पूरा करते में मददगार बनता है।

हिन्दू धर्म मान्यताओं में हर रोज साक्षात देवता सूर्य अपनी गति व रोशनी से कर्म से वैभव व ऊंचाई पाने की ऐसी ही प्रेरणा देते हैं। धार्मिक आस्था है कि सूर्य उपासना स्वास्थ्य, यश, ख्याति, समृद्धि देती है। इसलिए यहां बताए जा रहे सूर्य उपासना के 5 आसान उपाय मनचाहा काम, आमदनी व प्रतिष्ठा पाने की कामना जल्द पूरी करने में बेहद प्रभावी माने गए हैं।

ये उपाय जन्मकुण्डली में सूर्य दोष से मिलने वाले रोग, असफलता व अपयश से भी बचाते हैं। जानते हैं ये सरल उपाय -

- हर रोज स्नान के बाद सुबह यथासंभव सूर्योदय के वक्त सूर्य को तांबे के कलश से लाल चंदन मिले जल से 'ऊँ घृणि सूर्याय नम:' मंत्र बोलकर अर्घ्य दें।

- इस सूर्य प्रतिमा को लाल चंदन लगाकर इस सूर्य मंत्र का स्मरण करें या आदित्यहृदयस्त्रोत का पाठ करें -

नम: सूर्याय नित्याय रवयेऽर्काय भानवे।

भास्कराय मतङ्गाय मार्तण्डाय विवस्वते।।

- लाल चंदन का तिलक मस्तक पर लगाएं।

- तांबे का कड़ा हाथ में पहनें।

- गाय को पानी में थोड़े-से गेंहू भिगोकर खिलाएं।


any body who will try to steal or miss use or blog will be dealt severly acording to law

Jyotishachary Varinder Kumar JI 
Shop No 74 New
Shopping Center Ghumar Mandi
Ludhiana Punjab India

01614656864
09915081311,09872493627

email: sun_astro37@yahoo.com,sun.astro37@gmail.com
wwwsunastrocom.blogspot.com
http://www.sunastro.com/
http://www.facebook.com/profile.php?id=100000371678

सोमवार को करें शिव पूजा में ये छोटे-से उपाय..खत्म होगी मन व धन की पीड़ा


मंङ्गलमय जीवन वहीं होता है, जब मन को प्रसन्नता मिले। यह मात्र बाहरी सुख-सुविधाओं को पाने से ही नहीं मिलता, बल्कि अच्छे कर्म, विचार और व्यवहार से ही मिलता है। हिन्दू धर्म में खुशहाल व आनंदमय जीवन पाने के लिए ही भगवान शिव के साथ चंद्र पूजा का महत्व बताया गया है।

शिव की उपासना से सांसारिक जीवन की सभी कामनाओं की पूर्ति व आचरण की शुद्धता के लिए सोमवार का दिन बहुत ही शुभ माना गया है। वहीं सोमवार को चंद्र पूजा से मानसिक शांति व शक्ति प्राप्त होती है। ज्योतिष शास्त्रों के मुताबिक भी चंद्र व शिव पूजा जन्मकुण्डली में चन्द्र दोष से होने वाले रोग व पीड़ा से रक्षा करती है।

भगवान शिव स्वंय शशिधर या चन्द्रमौलीश्वर यानी चन्द्र को धारण करने वाले देवता है। इसलिए शिव पूजा से चंद्र पूजा का फल प्राप्त होता है। इसलिए यहां बताए जा रहे शिव पूजा के छोटे-छोटे उपाय कर आप भी सुख व ऐश्वर्य प्राप्त कर धन व मन से सबल बन सकते हैं -

- सोमवार को स्नान के बाद शिवालय में शिव को जल में दूध व सफेद चंदन मिलाकर  या गाय के दूध से ऊँ नम: शिवाय यह पंचाक्षरी मंत्र बोलते हुए स्नान कराएं।

- स्नान के बाद शिवलिंग पर सफेद चंदन का त्रिपुण्ड्र बनाए व बिल्वपत्र, धतुरा या आंकड़े के फूल के साथ अक्षत चढ़ाते हुए नीचे लिखा मंत्र बोलें -

ऊँ नम: शम्भवाय च मयो भवाय च नम: शङ्कराय च मयस्कराय च नम: शिवाय च शिवतराय च।

- शिवलिंग के सामने सफेद आसन पर बैठ चंद्र मंत्र 'ऊँ सों सोमाय नम:' मंत्र का रुद्राक्ष  की माला से कम से कम 108 बार जप करें।

- पूजा, मंत्र स्मरण व जप के बाद शिव को मेवे-मिश्री का भोग लगाएं। शिव की गो घृत दीप व कर्पूर से आरती करें।

- मस्तक पर सफेद चंदन वैभव संपन्नता व मानसिक शांति की कामना के साथ लगाएं।

- यथाशक्ति चंदन की अंगूठी, छल्ला या कड़ा चंद्र दोष शांति के लिये पहनें।

- सफेद गाय को दूध की मिठाई जैसे पेड़े या बताशे खिलाएं।

any body who will try to steal or miss use or blog will be dealt severly acording to law

Jyotishachary Varinder Kumar JI 
Shop No 74 New
Shopping Center Ghumar Mandi
Ludhiana Punjab India

01614656864
09915081311,09872493627

email: sun_astro37@yahoo.com,sun.astro37@gmail.com
wwwsunastrocom.blogspot.com
http://www.sunastro.com/
http://www.facebook.com/profile.php?id=100000371678

सिर्फ एक रोटी से चमक जाएगी आपकी किस्मत


कुछ लोग होते हैं जो हमेशा अपनी हर बात के लिए किस्मत को दोष देते हैं। कुछ भी हो इन्हें सिर्फ अपनी किस्मत पर ही रोना आता है। अगर आप भी यही समझते हैं कि आपकी किस्मत आपका साथ नहीं दे रही है तो प्रतिदिन यह उपाय करें। इस उपाय को करने से कुछ ही दिनों में निश्चित ही आपकी किस्मत चमक उठेगी।

उपाय

जब भी भोजन बनें, पहली रोटी को अलग निकालकर रख लें। इसके चार बराबर भाग कर लें। चारों भागों पर कुछ न कुछ मीठा जैसे- खीर, गुड़ या शक्कर आदि रख दें। इसका पहला भाग गाय को, दूसरा काले कुत्ते को, तीसरा कौए को और चौथा चौराहे पर रख दें। कुछ ही दिनों में आपको परिवर्तन दिखने लगेगा। 

any body who will try to steal or miss use or blog will be dealt severly acording to law

Jyotishachary Varinder Kumar JI 
Shop No 74 New
Shopping Center Ghumar Mandi
Ludhiana Punjab India

01614656864
09915081311,09872493627

email: sun_astro37@yahoo.com,sun.astro37@gmail.com
wwwsunastrocom.blogspot.com
http://www.sunastro.com/
http://www.facebook.com/profile.php?id=100000371678

20-11-11 : आज का पंचांग, ग्रह स्थिति और यात्रा की शुभ दिशा


जानिए: आज का पंचांग, किस दिशा में यात्रा करें? चोरी गई वस्तु कहां मिलेगी? आज कौन सा ग्रह, किस राशि में है?

20 नवंबर 2011: रविवार, सूर्य दक्षिणायन, अगहन मास, कृष्ण पक्ष, शोभन नाम संवत्सर, संवत् 2068, शरद ऋतु।

तिथि - दशमी

नक्षत्र - पूर्वा फल्गुनी दिन के 1.34 बजे से उत्तरा फाल्गुनी

सूर्योदय - 05:55

सूर्यास्त - 07:10

अक्षांश - 23:11 उत्तर

देशांश - 75:43 पूर्व

ग्रह स्थिति - चंद्र सिंह में, सूर्य वृश्चिक में, मंगल कर्क में, बुध कन्या में, गुरू मेष में, शुक्र वृश्चिक में, शनि तुला में, राहु वृश्चिक में और केतु वृष राशि में स्थित है।

किस दिशा में यात्रा - पश्चिम दिशा, यदि आवश्यक हो तो घी का सेवन करके यात्रा करें।

किस दिशा में चोरी - पश्चिम दिशा में चोरी गई समझें, नहीं मिलेगी।
any body who will try to steal or miss use or blog will be dealt severly acording to law

Jyotishachary Varinder Kumar JI 
Shop No 74 New
Shopping Center Ghumar Mandi
Ludhiana Punjab India

01614656864
09915081311,09872493627

email: sun_astro37@yahoo.com,sun.astro37@gmail.com
wwwsunastrocom.blogspot.com
http://www.sunastro.com/
http://www.facebook.com/profile.php?id=100000371678

Friday, November 18, 2011

शनि से बचें! अब से ऐसे इशारे मिले तो ये दुर्घटनाएं हो सकती है आपके साथ



अब शनि देव 15 नवंबर से तुला राशि में आ गए हैं। इससे जिन राशि वालों को पैरों और सिर पर साढ़ेसाती है यानी वृश्चिक और कन्या राशि वालों को शनि के इशारे समझना चाहिए। साथ ही तुला राशि वालों को भी शनि के प्रभाव से गुजरना पड़ेगा। शनि देव जब असर डालते हैं तो आपको हर जगह परेशानियों का सामना करना पड़ता है। शनि की साढ़ेसाती जब किसी को लगती है तो वो व्यक्ति बहुत परेशान होता है। अगर आपके कुछ काम रूके हुए है, बहुत दिनों से पूरे नहीं हो रहे हैं तो आपको समझना चाहिए कि शनि देव के असर से ये हो रहा हैं।



जानें और क्या-क्या होता है जब शनि के प्रभाव से



- अगर भूमि, वाहन या अन्य सम्पत्ति से संबंधित विवाद या परेशानियां आने लगती है तो समझ लेना चाहिए शनि आपको परेशान कर रहा है।



- कर्ज लेने की स्थिति भी तब ही बनती है जब साढ़ेसाती आपको परेशान करती है।



- अगर आपको कमर दर्द रहने लगा हो या कमर झुकने लगी हो तो समझ लें आप पर  साढ़ेसाती है।



- अगर आपके घर में कलेश हो रहो हो तो समझें आप पर शनि का असर हैं।



- दोस्तों और रिश्तेदारों से लड़ाई होना भी शनि के कारण होता है।



- जूते-चप्पल का बार-बार टूटना, गुम होना शनि के रूठने का संकेत है।



- आपका व्हीकल खराब रहने लगे तो समझना चाहिए शनि की साढ़ेसाती परेशान कर रही है।



- अगर बिजनेस में आपका पार्टनर धोखा दे तो समझें शनि के कारण ऐसा हो रहा है।



- शनि के कारण ही दिन-ब-दिन ऋण, लोन, उधार बढ़ता जाता है ।


any body who will try to steal or miss use or blog will be dealt severly acording to law

Jyotishachary Varinder Kumar JI 
Shop No 74 New
Shopping Center Ghumar Mandi
Ludhiana Punjab India

01614656864
09915081311,09872493627

email: sun_astro37@yahoo.com,sun.astro37@gmail.com
wwwsunastrocom.blogspot.com
http://www.sunastro.com/
http://www.facebook.com/profile.php?id=100000371678


 

शनिवार और नवमी का योग..इस देवी मंत्र से दूर करें शनि बाधा



देवी उपासना में नवदुर्गा की सातवीं शक्ति कालरात्रि का स्वरूप विकराल होने पर भी मंगलकारी माना जाता है। देवी काल की नियंत्रक मानी जाती है। इसलिए काल की विषमताओं से पार पाने में देवी की उपासना प्रभावी मानी गई है। खासतौर पर ग्रह-नक्षत्रों के अशुभ प्रभाव देवी उपासना से शांत हो जाते हैं।

इसी कड़ी में कालरात्रि की उपासना शनि ग्रह के दुष्प्रभावों से रक्षा करती है। माना जाता है कि शनि ग्रह के अशुभ योग या दशा जीवन में आर्थिक, शारीरिक व मानसिक पीड़ा देते हैं। जिनसे अनेक बाधाएं पैदा होती है।

शनि की ऐसी ही बाधाओं से बचाव के लिए देवी उपासना के आसान उपायो में कालरात्रि के स्वरूप का ध्यान करते हुए दुर्गासप्तशती के विशेष देवी मंत्र बोलना हितकारी माना गया है। जानते हैं यह विशेष देवी मंत्र -

- शाम के वक्त स्नान के बाद देवी की पंचोपचार पूजा गंध, अक्षत, लाल फूल व लाल फल का भोग अर्पित कर करें। धूप व दीप जलाकर लाल आसन पर बैठ नीचे लिखे देवी मंत्र या कालरात्रि के बीज मंत्र का स्मरण कम से कम 108 बार स्फटिक की माला से करें -

सर्वाबाधाप्रशमनं त्रैलोक्यस्याखिलेश्वरी

एवमेव त्वया कार्यमस्मद्वैरिविनाशनम्।।

कालरात्रि बीजमंत्र - लीं    

- मंत्र जप व पूजा के बाद माता की आरती कर क्षमाप्रार्थना कर उसी आसन पर बैठकर प्रसाद ग्रहण करें।


any body who will try to steal or miss use or blog will be dealt severly acording to law

Jyotishachary Varinder Kumar JI 
Shop No 74 New
Shopping Center Ghumar Mandi
Ludhiana Punjab India

01614656864
09915081311,09872493627

email: sun_astro37@yahoo.com,sun.astro37@gmail.com
wwwsunastrocom.blogspot.com
http://www.sunastro.com/
http://www.facebook.com/profile.php?id=100000371678